डार

तीनों आतंकवादियों का संबंध प्रतिबंधित संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन से है और वे सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले और असैन्य लोगों पर अत्याचार समेत आतंकवाद से जुड़े कई मामलों में संलिप्तता को लेकर वांछित थे।