तिरंगा

BIHAR:तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े नीतीश कुमार (Nitish Kumar) की जो फोटो शेयर हो रही है, वह फर्जी है। असली फोटो में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) नेता तेजस्वी यादव (Tejasawi Yadav) तीन रंगों वाले चबूतरे पर खड़े हैं। यह फोटो तब ली गई थी, जब तेजस्वी जहानाबाद में आयोजित जनसंपर्क कार्यक्रम में बोल रहे थे।

RSS: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) बना कर देश के युवा शक्ति एवं समाज का देशिक मूल्य के आधार पर संगठन करना प्रारम्भ कर दिया। इसमें आनंद की बात है की संघ तो चलता ही रहा परंतु डॉ. हेडगेवार (Dr. Keshav Rao Baliram Hedgewar) ने अंग्रेजों के ख़िलाफ़ अपने स्वर को सदैव मुखर रखा।

Mehbooba Mufti: महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) की पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) को झटका देते हुए हुसैन पीडीपी छोड़कर अपने समर्थकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए और इस बात पर उन्होंने बल दिया कि जम्मू कश्मीर के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों से बड़े आशान्वित हैं।

Jammu & Kashmir: महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) के इस बयान पर उनकी चौतरफा निंदा हो रही है वहीं अब उनकी पार्टी के नेता भी उनके इस बयान से खफा नजर आ रहे हैं। पीडीपी (PDP) के तीन नेताओं ने पार्टी को बड़ा झटका देते हुए इस्तीफा दे दिया है।

ABVP: एबीवीपी (ABVP) कार्यकर्ताओं द्वारा पीडीपी दफ़्तर के बाहर खूब नारेबाज़ी की एवं दफ़्तर के बाहर पीडीपी (PDP) अध्यक्षा के पोस्टर पर सियाही फेंक दी जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने वहां तिरंगा फहराने का प्रयास किया। जिस पर पुलिस प्रशासन द्वारा उन्हें रोकने की कोशिश की जिसमें कार्यकर्ता घायल भी हुए।

Mehbooba Mufti: महबूबा मुफ्ती ने भारत(India) के राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे को लेकर कहा था कि, “जिस वक्त हमारा ये झंडा वापस आएगा, हम उस (तिरंगा) झंडे को भी उठा लेंगे। मगर जब तक हमारा अपना झंडा, जिसे डाकुओं ने डाके में ले लिया है, तब तक हम किसी और झंडे को हाथ में नहीं उठाएंगे।

भारत के स्वतंत्रता दिवस के शुभकामना संदेश पाकिस्तान की वेबसाइट्स (Pakistan Websites) पर भी दिखाई दे रहे हैं।

उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(Yogi Adityanath) ने यूपी विधानसभा के मुख्य द्वार पर तिरंगा फहराया और प्रदेशवासियों को आजादी के दिन की शुभकामना दी

पाकिस्तान के प्रमुख टीवी समाचार चैनल डॉन पर अचानक तिरंगा लहराने से लोग अचंभित हो गए। बाद में पता चला कि इस न्यूज चैनल पर हैकर्स ने हमला किया था।

कलकत्ता के सुप्रसिद्ध परिवार में जन्मे श्यामा प्रसाद जी का व्यक्तिगत जीवन शिक्षा, राजनीति और लोकसेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट सफलताओं से जड़ा हुआ था, परन्तु भारत के स्वतंत्र हो जाने के पश्चात भी एक देश में ‘दो निशान, दो विधान, दो प्रधान’ के नियम की उपस्थिति उन्हें चुभती थी।