तेज बहादुर यादव

बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव ने दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी छोड़ दी है। शनिवार को प्रेस कांफ्रेंस करके उन्होंने यह ऐलान किया। प्रेस कांफ्रेंस में तेज बहादुर ने जेजेपी और दुष्यंत चौटाला के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए आंदोलन छेड़ने की भी बात कही।

तेज बहादुर ने कहा कि समाजवादी पार्टी (सपा) पार्टी के नेताओं से बात करने के बाद चुनाव लड़ने केबारे में अंतिम फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीएम के खिलाफ चुनाव लड़कर चर्चा में आना मेरा मकसद नहीं है।

जब सपा ने तेज बहादुर यादव को शालिनी यादव की जगह प्रत्याशी घोषित किया तो उन्होंने दोबारा नामांकन किया और इस बार जो हलफनामा वाराणसी निर्वाचन अधिकारी को दिया उसमें बीएसएफ से निकाले जाने की जानकारी नहीं दी।

प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ गठबंधन के टिकट पर नामांकन करने वाले तेज बहादुर यादव को बड़ा झटका लगा है। चुनाव आयोग ने उनकी उम्मीदवारी को खारिज कर दिया है। बता दें कि तेज बहादुर यादव के नामांकन कागजों में गड़बड़ी पाई गई थी और उन्हें एक प्रमाण पत्र जमा करने को कहा गया था लेकिन वह नहीं कर पाए।

वाराणसी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ समाजवादी पार्टी-बीएसपी गठबंधन ने अपना प्रत्‍याशी बदल दिया है। सोमवार को नामांकन दाखिल करने के आखिरी दिन समाजवादी पार्टी के उम्‍मीदवार को लेकर काफी देर तक सस्‍पेंस बना रहा।