तेलंगाना

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने रविवार को कहा कि अगले पांच दिनों के दौरान राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और तेलंगाना के कुछ हिस्से भीषण लू की चपेट में होंगे।

तेलंगाना में घातक कोरोनवायरस मामलों के आधिकारिक आंकड़ों के हिसाब से पता चला है कि 40 प्रतिशत मरीज 21-40 साल के बीच की उम्र के हैं।

अजीज ने कहा कि अब वो बुरे दिन को याद नहीं करना चाहते। अब चाहे जो हो जाए वह राज्य से बाहर नहीं जाना चाहते। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि कोई भी व्यक्ति अपने गांव, घर, परिवार को छोड़कर नहीं जाना चाहता। यहां सरकार अगर रोजगार के साधन उपलब्ध करा दे, तो कोई क्यों जाए?

कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री मोहम्मद अली शब्बीर ने महिला की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि यह महिला दो दिनों से आ रही थी।

ऐसे समय में जब कोरोनोवायरस के कारण हुए लॉकडाउन में पड़ोस में जाना मुश्किल हो रहा है, तेलंगाना की एक महिला ने आंध्र प्रदेश में फंसे अपने बेटे को वापस लाने के लिए 1400 किलोमीटर स्कूटी चलाई।

तेलंगाना सीएमओ की तरफ से अपील की गई है कि जो भी लोग दिल्ली में मरकज में गए उन्हें दिल्ली अथॉरिटीज को सूचित करना चाहिए। सरकार उनका फ्री में जांच और इलाज कराएगी। किसी को भी इस बारे में कोई सूचना है तो वे सरकार को जरूर बताएं।

खतरनाक कोरोना वायरस अब भारत पहुंच चुका है। अभी तक भारत में तीन पॉजिटिव केस आए थे। तीनों ठीक होकर घर जा चुके हैं।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को कोरोनावायरस के संक्रमण का पहला मामला सामने आया है। इसके अलावा तेलंगाना में भी एक अन्य कोरोनावायरस से संक्रमण का मामला सामने आया है।

तेलंगाना की एक विशेष अदालत में गुरुवार को दो महीने के पहले घटित कोमाराम भीम असिफाबाद जिले में एक महिला से दुष्कर्म और हत्या के दोषियों को मौत की सजा सुनाई गई।

नागरिकता कानून का चुनावी इस्तेमाल शुरू हो गया है। एआईएमआईएम अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तेलंगाना के नगरपालिका चुनाव प्रचार के दौरान का डर दिखाकर वोट मांगे हैं।