तेहरान

उन्होंने कहा कि ईरान ने बार-बार घोषणा की है कि वह क्षेत्रीय देशों में घनिष्ठ सहयोग बढ़ाने के लिए तैयार है। खामेनी ने ईरान और कतर के बीच आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देने का भी आग्रह किया।

यूक्रेन का एक बोइंग 737 विमान बुधवार को ईरान की राजधानी तेहरान से उड़ान भरने के कुछ ही देर बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया। विमान में सवार सभी यात्रियों की मौत हो चुकी है। विमान में कम से कम 170 यात्री सवार थे। घटना तेहरान स्थित इमाम खुमैनी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास घटी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, हातमी ने कहा कि ईरान अपनी सभी रक्षा आवश्यकताओं को पूरा करने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई और 'घुसपैठ' कर रहे अमेरिकी ड्रोन को मार गिराना इसका सबूत है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, तुर्की के अंकारा के लिए तेहरान से रवाना होने से पहले रविवार को रूहानी ने कहा, "इस क्षेत्र में जो कुछ हो रहा है ..अमेरिका की गलत योजनाओं और साजिशों का परिणाम है।"

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, जरीफ ने सोमवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सऊदी अरब के हथियार पर खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में 50 अरब अमरीकी डॉलर के अमेरिकी हथियार (बेचे गए) थे।

अमेरिका के इस कदम से दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ना तय हो गया है। वाशिंगटन के निर्णय से ईरानी कूटनीतिक प्रमुख मोहम्मद जवाद जरीफ को भविष्य में वाशिंगटन और तेहरान के बीच किसी भी वार्ता से व्यावहारिक रूप से बाहर करता है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, हुक ने संसद में सुनवाई के दौरान कहा, "किसी को भी शांति के लिए हमारी इच्छा या रिश्तों को सामान्य करने के लिए हमारी तत्परता पर संशय नहीं करना चाहिए।"

ईरानी संसद के विदेशी मामलों के निदेशक हुसैन आमिर-अब्दुलाहियान ने सोमवार को सीएनएन से एक साक्षात्कार में कहा, कि ट्रंप 'सिरफिरे' हैं और उनका प्रशासन 'भ्रमित' है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बुधवार को तेहरान पर नए प्रतिबंध लगाने की घोषणा की। ये प्रतिबंध लौह, इस्पात, एल्यूमिनियम और तांबा सेक्टर पर लगाए गए हैं। अमेरिका ने दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच यह कदम उठाया है।

नई दिल्ली। भारत की बढ़ती ताकत को लेकर एक खबर मध्य एशिया से आई है। बता दें कि मध्य एशिया...