त्रिपुरा

असम सरकार के अनुरोध के अनुसार, 11 दिसंबर से 17 दिसंबर के बीच भारतीय सेना की 29 टुकड़ियां स्थानीय प्रशासन की सहायता के लिए तैनात की गई थीं। प्रत्येक टुकड़ी में 70 सैनिक और एक-दो अधिकारी होते हैं।

हिमालय के वनों व तराई में मिलने वाली दुर्लभ एवं जीवनरक्षक औषधियों का लाभ जल्द ही शहरी लोग भी ले सकेंगे। सरकार ने आयुर्वेदिक उपचार की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए हिमालय की गोद में आयुर्वेदिक नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट को मंजूरी दे दी है।

नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) के खिलाफ बुधवार को युवा कांग्रेस के प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ताओं पर पुलिस द्वारा किए गए लाठीचार्ज के खिलाफ 24 घंटे के बुलाए गए बंद का गुरुवार को कुछ खास असर नहीं दिखा।

सरकारी कार्यालयों, बैंकों में उपस्थिति सामान्य के करीब रही, जबकि कुछ जगहों पर शैक्षिक संस्थान खुले हैं और कुछ जगहों पर बंद रही। दुकानें, बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान आंशिक रूप से खुले रहे।

पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, 'मैं असम के भाईयों-बहनों को भरोसा दिलाता हूं कि CAB के पास होने से आप पर असर नहीं पड़ेगा। कोई भी आपका हक नहीं छीन रहा है, ये ऐसे ही जारी रहेगा।'

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना (पीएमएवाई-जी) के तहत अब तक 88 लाख से ज्यादा मकानों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। यह जानकारी केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मंगलवार को लोकसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में दी।

त्रिपुरा ने मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के नेतृत्व में प्रदर्शन और विकास के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर कई सफलता दर्ज की है। जिसका ताजा उदाहरण है इंडिया टुडे का स्टेट ऑफ़ स्टेट्स कॉन्क्लेव 2019 में दिया गया पुरस्कार।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने अपना एक महीने का वेतन 29 हजार रुपये बेसहारा बच्चों की देखभाल करने वाले एक संगठन को दान कर दिया।

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने रविवार को कहा कि 181 साल पुरानी राज्य की राजधानी को एक आधुनिक हरा भरा शहर बनाने के लिए ग्रीन अगरतला परियोजना के साथ-साथ करोड़ों रुपये की स्मार्ट सिटी परियोजनाएं चलेंगी।

भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने शुक्रवार को त्रिपुरा में कहा, 'यदि कोई पार्टी सबसे ज्यादा सत्ता में रही है तो वह कांग्रेस है। कांग्रेस ने 1950 से 1977 तक देश में शासन किया है। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि मोदीजी यह रिकॉर्ड तोड़ने जा रहे हैं। 2047 में आजादी के 100वें वर्ष में प्रवेश करने तक भाजपा सत्ता में काबिज रहेगी।'