दिल्ली

 कोरोनोवायरस के कारण देश भर में हुए 21 दिनों के लॉकडाउन के बीच हजारों गरीब और दिहाड़ी मजदूर अपना पेट भरने की जद्दोजहद कर रहे हैं।

कोरोना के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए  इलाकों को सील करने का कदम उठाया जा रहा है। इसी को लेकर दक्षिण दिल्ली के दो इलाकों को भी हॉटस्पॉट चिन्हित किया गया है।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम की स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन संदीप कपूर ने कहा है कि वे दिल्ली को लॉकडाउन में साफ-सुथरा रखने के लिए अपनी ओर से पूरी कोशिश कर रहे हैं, जिससे कोरोना का संक्रमण आगे न बढ़ सके।

कोरोनावायरस की महामारी को देखते हुए बुधवार को दिल्ली सरकार ने 20 इलाके सील कर दिए। इनमें दक्षिण दिल्ली के दो इलाकों को हॉटस्पॉट चिन्हित किया गया है।

दिल्ली के डिफेंस कालोनी थाना इलाके में एक परिवार के तीन लोग कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। तीनों को होम क्वारंटाइन करवा दिया गया है।

उत्तर रेलवे के जन संपर्क अधिकारी दीपक कुमार के मुताबिक, 2 अप्रैल को ये कर्मचारी फिर से अस्पताल में भर्ती के लिये आये तो इनका एमआरआई और सीटी स्कैन कराया गया। लाल पैथ से भी जांच कराई गई।

लॉकडाउन के चलते दिल्‍ली में वायु प्रदूषण में बुधवार को एक पायदान का सुधार हुआ। वायु में जहरीली गैस नाइट्रोजन ऑक्साइड की 60 फीसदी की कमी आई है।

इससे पहले भी वह अभी हाल में ही दिल्ली सरकार को 50 लाख रुपये दे चुके हैं। अब तक गौतम गंभीर कोरोना के खिलाफ जंग में एक करोड़ रुपये दिल्ली सरकार को दे चुके हैं।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जेएनयू इकाई के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली में महिपालपुर और कटवारिया सराय आदि क्षेत्रों में जरुरतमंदों के बीच में राशन एवं रोजमर्रा के जीवन के लिए आवश्यक अन्य घरेलू सामान का वितरण किया। उनसे आग्रह किया की वह फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करें । ‌

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मौलाना के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही मौके पर डॉक्टरों की एक टीम डेरा डाले हुए हैं।