दिल्ली कोरोनावायरस

बता दें कि सीएम अरविंद केजरीवाल ने जनता के सुझाव, विशेषज्ञों की राय और कैबिनेट में चर्चा के बाद फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के अधीन आने वाले अस्पतालों में केवल दिल्ली के लोगों का इलाज होगा। बाहर के लोगों का इलाज दिल्ली के अस्पतालों में नहीं होगा।

पूर्व राज्यसभा सदस्य शाहिद सिद्दीकी की भतीजी की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रविवार को मौत हो गई। तेज बुखार और सांस लेने मे परेशानी के बाद शाहिद सिद्दीकी की भतीजी को भर्ती कराया गया था।

केजरीवाल ने माना कि मोबाइल ऐप में लिखा है कि बेड उपलब्ध है लेकिन जब अस्पताल जाओ तो  वे मना कर देते हैं। कुछ चंद अस्पताल इतने ताकतवर हो गए हैं कि उनकी सभी पार्टियों में पहुंच है। कुछ लोगों ने माफिया बनाया हुआ था, उसको तोड़ने में थोड़ा समय लग रहा है।

दिल्ली सरकार ने कोविड​​-19 महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं संबंधी ढांचे में वृद्धि करने और अस्पतालों की समग्र तैयारियों को और सुदृढ़ करने के लिए पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है।

दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार और प्राइवेट अस्पतालों से कोरोना संबंधित डेटा लेने के लिए तीन IAS अफसरों को बतौर नोडल अफ़सर तैनात किया है।

गुलेरिया ने कहा, 'कोरोना के खिलाफ लड़ाई, जनता की लड़ाई है। ऐसे में जनता को सहयोग करना होगा। सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर, हैंडवाश जैसे बेसिक नियमों का पालन करना होगा।'

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की स्टैंडिंग समिति के डिप्टी चेयरमैन राजपाल सिंह ने कहा कि मरकज़ की बिल्डिंग को एहतियातन बंद कर दिया गया है और अब इस इमारत को अवैध पाए जाने के बाद ढहाने के लिए एक पूरी फाइल तैयार की जा रही है।