दिल्ली चुनाव

दिल्ली विधानसभा चुनाव में लोकतंत्र की ताकत दिखाने के लिए राजधानी के मतदाता सुबह आठ बजे से ही कतार में खड़े हैं। सभी 70 सीटों पर आज एक साथ मतदान हो रहा है। न केवल आम जनता, बल्कि तमाम नेता-राजनेता भी आज लोकतंत्र के महापर्व में हिस्सा ले रहे हैं।

एक यूजर ने रिप्लाई में लिखा कि, "चुनाव नजदीक आते ही हिंदू और बजरंगबली याद आने लग गए, कुछ महीने पहले स्वास्तिक को झाड़ू से मारा जा रहा था तब हिंदू याद नहीं आया दिल्ली की जनता के टैक्स का पैसा मस्जिद के मौलवी को 44000 वहां के सहायक को 16000 पर हनुमान मंदिर के पंडित को जीरो दंगाई को 5 लाख और सरकारी नौकरी।"

चन्द्र से भाग्य भाव मे केतु , गुरु की गोचरीय उपस्थिति और राहु की दृष्टि इस बार का चुनाव आसान नही बनाता है और पुनः सत्ता पाते नही दिख रहे है या कहे कि 36 का जादुई आंकड़ा नही छू पाएगी।

वायरल हो रही ये चिट्ठी संजय सिंह की है या नहीं फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं हुई है लेकिन इसके अलावा एक और भी खबर सोशल मीडिया पर तैर रही है कि आम आदमी पार्टी में सीएम की कुर्सी को लेकर भी घमासान की स्थिति है।

कपिल ने एक फरवरी को प्रदर्शन कर रहे लोगों को जगह को खाली करने की चेतावनी देने के बाद हवा में तीन गोलियां दागी थीं और सांप्रदायिक नारे भी लगाए थे।

केजरीवाल द्वारा दी जा रही फ्री सुविधाओं पर एक यूजर ने लिखा कि, "दिल्लीवासी तय करें कि असल में गरीबों का भला करना है या खुद गरीब बन कर सरकार पर फ्री का लोड डालना है।"

भारतीय जनता पार्टी दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर मान रही है कि यहां की जनता की तरफ से पार्टी के नेताओं को अच्छा रिस्पांस मिल रहा है।

भाजपा के स्टार प्रचारकों में शामिल त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब भी लगातार चुनाव प्रचार कर रहे हैं और भाजपा के पक्ष में मतदाने करने के लिए लोगों से अपील कर रहे हैं।

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन को लेकर भाजपा दिल्ली चुनाव बाद फिर से अभियान को तेज धार देने जा रही है। इसकी व्यापक तैयारी की गई है।

दिल्ली चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी किया। भाजपा के बाद आम आदमी पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में कई ऐलान किए हैं। केजरीवाल ने गारंटी कार्ड के अलावा 28 वादे किए हैं।