दिल्ली दंगा

Delhi riots: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में फरवरी में हुए दंगों के सिलसिले में पुलिस ने जो आरोप-पत्र (चार्जशीट) दायर किया है उसमें कहा गया है कि नागरिक संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान भड़काऊ भाषण देने वाले नेताओं में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद (Senior Congress leader Salman Khurshid), माकपा नेता वृंदा करात (Brinda Karat) और उदित राज (Udit Raj) शामिल थे।

Delhi Riots: वहीं अब दिल्ली दंगे (Delhi riot) को लेकर एक संस्था टीम भारत (TEAM BHARAT) ने सोशल मीडिया (Social Media) के जरिए जो खुलासा किया है वह और भी चौंकानेवाला है। इससे साफ पता चलता है कि किस तरह के इरादों के साथ इस पूरी साजिश के लिए चक्रव्यूह की रचना की गई। इसको लेकर टीम भारत (TEAM BHARAT) ने अपने ट्वीटर एकाउंट पर कई दावे तो किए ही हैं साथ ही कई स्क्रीनशॉट भी लगाए हैं जो इस पूरे घटनाक्रम की पोल खोलने के लिए सबूत के तौर पर काफी है।

Delhi police Special cell Report: दिल्ली दंगों (Delhi Riot) को लेकर रची गई साजिश को लेकर हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। इस दंगे की वजह से दिल्ली (Delhi) का जितना नुकसान हुआ है उसको लेकर खुलासा इस बात का भी हुआ है कि 2019 के चुनाव के बाद से ही इस दंगे को लेकर साजिश रची जा रही थी।

Delhi Riots: इस पूरी साजिश को अंजाम दिलाने में पिंजरा तोड़ ग्रुप की तरफ से की गई मदद के बारे में भी चार्जशीट(Chargesheet) में लिखा गया है। चार्जशीट में यह भी कहा गया है कि कैसे जहांगीरपुरी(Jahangir Puri) से 300 महिलाओं को पहले शाहीन बाग(Shaeen Bagh) धरने के लिए ले जाया जा रहा था

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की स्पेशल सेल (Special Cell) ने बुधवार को कड़कड़डूमा कोर्ट (Karkardooma Court) में फरवरी में हुई हिंसा के मामले में 15 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है।

दिल्ली पुलिस(Delhi Police) की स्पेशल सेल टीम और क्राइम ब्रांच(Crime Branch) दिल्ली दंगों से जुड़ी जांच कर रही है, स्पेशल सेल दंगों में हुई साजिश और उस साजिश में भाग लेने वाले लोगों की जांच कर रही है जबकि क्राइम ब्रांच की टीम उन लोगों को पकड़ रही है जो दंगों में संलिप्त थे।

प्रभात प्रकाशन से प्रकाशित दिल्ली दंगे साजिश का खुलासा पुस्तक फरवरी और मार्च में दिल्ली में हुए दंगे के षड़यंत्र का पर्दाफाश करती है। यह किताब कई मायने में एक संग्रह करने योग्य दस्तावेज है।

गरुड़ प्रकाशन के द्वारा 'Delhi Riots 2020' के हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में प्रकाशन को मंजूरी दी गई है। इसकी जानकारी प्रकाशन की तरफ से ट्वीट कर भी दी गई है।

दिल्ली में हुए हिंसा के मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस को दिए गए बयान में हिंसा के आरोपी जामिया (Jamia) के स्टूडेंट और आरजेडी (RJD) के युवा प्रदेश अध्यक्ष मीरान हैदर (Miran Haiider) ने कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की इंटोरेगेशन रिपोर्ट के मुताबिक, ताहिर हुसैन ने यह बात स्वीकार की है कि उन्होंने अपनी छत पर कांच की बोतल, पेट्रोल, एसिड और पत्थर आदि इकट्ठा किया था।