दिल्ली दंगे

Delhi riots: पत्रकार आदित्य भारद्वाज(Aditya Bhardwaj) ने बताया कि, वो खुद उस इलाके में रहते हैं जहां ये दंगे हुए थे। उनके मुताबिक दंगों की प्लानिंग बहुत ही बेहतर तरीके से की गई थी। दंगा उस समय शुरू किया गया, जबकि घरों में पुरूष नहीं थे।

Saransh Films: इस डॉक्यूमेंट्री का निर्देशन 66 वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीतने वाली फिल्म ‘Madhubani: The Station of Colors’ के लेखक-निर्देशक कमलेश मिश्रा किया है और इसके निर्माता नवीन बंसल हैं।

Farmer Delhi Violence: नांगलोई पुलिस(Nangloi Police) ने एफआईआर में डकैती की धारा इसलिए जोड़ी है क्योंकि कुछ उपद्रवी नांगलोई में पुलिस से आंसू गैस के गोले भी छीन ले गए थे। वहीं एक रिपोर्ट की मानें तो 26 जनवरी को हुए दिल्ली(Delhi) के दंगों में 300 पुलिस जवान घायल हुए हैं।

Delhi Riots : दिल्ली पुलिस(Delhi Police) का कहना है कि, "कपिल मिश्रा(Kapil Mishra) के पूरे बयान के रिकॉर्ड पर आ जाने से आहत एंकर ने असली व्हिसल ब्लोअर(Whistle Blower) को नजरअंदाज करते हुए दर्शकों को गुमराह करने का प्रयास किया है।"

दिल्ली पुलिस ने आज दिल्ली दंगों से जुड़ी एक और चार्जशीट दाखिल की है। दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने दिल्ली दंगों के दौरान इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के कर्मी अंकित शर्मा की हत्या के मामले में मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट (कड़कड़डूमा कोर्ट) में चार्जशीट दायर की।