दिल्ली पुलिस

उत्तर पूर्वी दिल्ली में पिछले दिनों हुई हिंसा के मामले में दिल्ली पुलिस ने सख्त रुख अपना लिया है। इस कड़ी में जगतपुरी में दंगे को लेकर कांग्रेस की पूर्व पार्षद इशरत जहां को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दिल्ली पुलिस ने दिल्ली में हुए दंगों को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक 22 फरवरी को जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे लोग इकट्ठा हुए थे। उसके पास ये जानकारी थी ये लोग हिंसा कर सकते हैं।

याचिकाकर्ता हिंदूसेना ने दिल्ली पुलिस को एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी व पार्टी विधायक वारिस पठान और अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किए जाने के निर्देश देने का निवेदन किया। याचिका में कहा गया कि इनके भाषणों से दिल्ली में सांप्रदायिक माहौल बढ़ा।

गुरुवार को बाकायदा दिल्ली पुलिस मुख्यालय ने एक विशेष जांच टीम (एसआईटी) गठित कर दी। एसआईटी में दिल्ली पुलिस अपराध शाखा में तैनात आठ दबंग एसीपी शामिल किए गए हैं।

दिल्ली हिंसा पर बुधवार को सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस को फटकार लगाने वाले दिल्ली हाईकोर्ट के जस्टिस एस मुरलीधर का देर रात ट्रांसफर कर दिया गया है। केंद्रीय कानून मंत्रालय की तरफ से जारी गजट नोटिफिकेशन में उन्हें पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में ट्रांसफर किया गया है।

संशोधित नागरिकता कानून(सीएए) को लेकर उत्तरपूर्वी दिल्ली के विभिन्न हिस्सों में भड़की हिंसा में शामिल लोगों पर प्राथमिकी दर्ज करने और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग करने वाली एक याचिका पर दिल्ली उच्च न्यायालय में सुनवाई चल रही है।

दिल्ली पुलिस की ओर से मिली सूचना के मुताबिक चांदबाग, करावल नगर, मौजपुर और जाफराबाद में मंगलवार शाम को भारी संख्या में पुलिस बल उतार दिए गए हैं।

आज अभाविप विधि संकाय इकाई के द्वारा आयोजित श्रद्धांजलि सभा में छात्रों ने शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल, जो की सीएए विरोधी हिंसक दंगों में कानून व्यवस्था को बनाये रखने के अपने कर्तव्य का पालन करते हुए शहीद हो गए को श्रद्धांजलि अर्पित की।

रिपोर्ट्स में कहा गया कि पीएफआई का दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद परवेज अहमद शाहीन बाग प्रदर्शन का प्रमुख भागीदार है। परवेज भीम आर्मी के कई व्हाट्सएप ग्रुपों से भी जुड़ा हुआ है।

दिल्ली में दंगा करने वाले दंगाइयों की पहचान मुकम्मल हो चुकी है। दिल्ली पुलिस बड़ा एक्शन लेने की तैयारी में है। सूत्रों के मुताबिक सिर्फ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की यात्रा के समाप्त होने का इंतजार किया जा रहा है।