दिल्ली में हिंसा

बुधवार दिल्ली (Delhi) में ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा और किसानों के प्रदर्शन के चलते कई रास्ते बंद हैं। साथ ही आज भी इंटरनेट सेवा बंद (Internet service down) है। जिससे 5 करोड़ यूजर्स प्रभावित हुए हैं।

अभिनेता व राजनेता कमल हसन ने रजनीकांत द्वारा दिल्ली में भड़की हिंसा पर नियंत्रण करने में असफल रही केंद्रीय सरकार की आलोचना वाले कमेंट का स्वागत किया है।

उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में सीएए के विरोधी और समर्थकों के बीच हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। इसी वजह से गुरु तेग बहादुर अस्पताल पहुंचाए जा रहे घायलों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। घायलों का इलाज कर रहे एक डॉक्टर ने बताया कि 15 से ज्यादा लोग गोली लगने से घायल हुए हैं।

बाबरपुर में रहने वाले राजा ने आईएएनएस से कहा "सोमवार को हमारे मोहल्ले के बाहर तीन घंटे तक रुक-रुककर पथराव व हिंसक झड़पें होती रहीं। ज्यादातर उपद्रवी दूसरे मोहल्लों से आए थे। हिंसा कर रहे इन लोगों के हाथ में लाठी-डंडे और लोहे की रॉड भी थीं।"

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में दरियागंज थाने में हिंसक प्रदर्शन कर आगजनी और तोड़फोड़ करने पर शुक्रवार रात कम से कम 15लोगों को गिरफ्तार किया गया। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी।