दिल्ली विधानसभा चुनाव

कांग्रेस ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए मंगलवार को नामांकन के आखिरी दिन अपने पांच प्रत्याशियों की सूची जारी की है। इनमें पार्टी के वरिष्ठ नेता परवेज हाशमी को ओखला से टिकट दिया गया है, जो एक मुस्लिम-बहुल सीट है, जिसके तहत शाहीन बाग इलाका आता है, जो दिल्ली में सीएए विरोधी प्रदर्शन का केंद्र बना हुआ है।

सुनील यादव ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मैं ही केजरीवाल के खिलाफ चुनाव लड़ूंगा। मैं यहीं का रहने वाला हूं और जनता मुझे जानती है। उन्होंने कहा कि आज सीएम दफ्तर में जाओ तो आपको अपॉइंटमेंट लेना पड़ता है। मैं तो यहीं का विधायक हूं, हमेशा मौजूद रहूंगा।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी (आप) ने त्रिनगर सीट से अपने नेता और पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर के स्थान पर उनकी पत्नी प्रीति तोमर को उम्मीदवार बनाया है।

आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी का उद्देश्य भ्रष्टाचार को हराना है और दिल्ली को आगे ले जाना है, जबकि अन्य दलों का मकसद उन्हें (केजरीवाल को) हराना है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए जनता दल-यूनाइटेड (जद-यू) ने अपने स्टार प्रचारकों की सूची जारी की है, जिसमें पार्टी अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत पार्टी के सभी प्रमुख नेताओं को शामिल किया गया है। लेकिन इस सूची से जद-यू नेता प्रशांत किशोर और पवन वर्मा गायब हैं।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपने उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ सुनील यादव को उतारा है, जिसके बाद आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा कि भगवा पार्टी ने चुनाव से पहले ही हार मान ली है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने देर रात अपने उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी कर दी है। इस लिस्ट में भाजपा ने 10 और कांग्रेस ने छह उम्मीदवारों की घोषणा की है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने 'केजरीवाल गारंटी कार्ड' जारी किया है। आप ने दावा किया है कि यह 10 गारंटी चुनाव के बाद भी जारी रहेंगी।

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2015 के 70 सीटों के नतीजे पर गौर करें तो आप(आम आदमी पार्टी) को 67 सीटें हासिल हुई थी और उसका वोट प्रतिशत 54.30% रहा था।

भाजपा की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की बैठक गुरुवार देर रात आयोजित की गई, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह भी शामिल हुए। लेकिन बैठक के बाद भी दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए किसी भी उम्मीदवार के नाम की घोषणा नहीं की जा सकी है।