दीपोत्सव

Ayodhya Deepotsav: दरअसल करीब पांच दशक बाद वह अवसर आया था जब पहली बार राम जन्मभूमि(Ram JanBhumi) पर भी खुशियों के दीपक जले। और ये खुशी का मौका था, अयोध्या(Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण की शुरुआत होना।

Ayodhya Diwali: सीएम योगी(CM Yogi) ने कहा कि, पूरी रामायण सर्किट की परिकल्पना को साकार करके जहां-जहां प्रभु के चरण धरे गए, हम वैश्विक पटल पर उसे पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित कर रहे हैं

Ayodhya: आपको बता दें कि राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ(CM Yogi) अयोध्या में पहुंचकर रामलला की पूजा की। इस दौरान उनके साथ यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल(Anandi Ben Patel) भी मौजूद रहीं।

रघुनंदन के स्‍वागत को अयोध्‍या में संस्‍कृतियों की सतरंगी छटा बिखरेगी। एक दो नहीं, गुजरात से लेकर बुंदेलखण्‍ड तक सात अनूठी संस्‍कृतियों के दर्शन सरयू तट पर एक साथ होंगे। योगी सरकार ने दीपोत्‍सव को खास बनाने के लिए गुजरात, महाराष्‍ट्र, आंध्र प्रदेश, राजस्‍थान, उत्‍तराखण्‍ड, ब्रज और बुंदेलखण्‍ड के लोक कलाकारों के साथ ही स्‍थानीय कलाकारों को भी अयोध्‍या बुलाया है। सरयू तट पर लाखों की संख्‍या में झिलमिलाते दीपों के बीच संस्‍कृतियों और लोककलाओं की सतरंगी छटा सोलह श्रृंगार कर सजी अयोध्‍या को अद्भुत और अलौकिक बनाएगी।

Uttar Pradesh: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कलाकारों द्वारा बनाई गई उम्दा चित्रकला प्रदर्शनी में राजसूय यज्ञ, राम जन्मोत्सव, राम विवाह, राम वन गमन, केवट प्रसंग, भरत द्वारा पदुका ग्रहण करना, सीताहरण, शबरी प्रसंग, लंका दहन, संजीवनी बूटी, रावण वध, राम राज्याभिषेक प्रसंग आदि के चित्र हृदय स्पर्शी हैं। जो पंडाल में आने वाले दर्शनार्थियों को त्रेतायुग में लेकर जाते हैं।

Ayodhya: दीपोत्‍सव के जरिये योगी सरकार (Yogi Adityanath) खास तौर से बुंदेलखण्‍ड (Bundelkhand) के लोक कलाकारों को विश्‍वस्‍तरीय मंच देगी। राज्‍य सरकार के संस्‍कृति विभाग ने बुंदेलखण्‍ड की दीवारी टोली को विशेष तौर पर दीपोत्‍सव में शामिल किया है। 

UP: रामनगरी अयोध्या (Ayodhya) को एक बार फिर भव्य और दिव्य रोशनी सजाए जाने की तैयारियां हो रही हैं। दीपोत्सव (Deepotsav) में श्रीराम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) का समूचा परिसर दीपों की माला से जगमग नजर आएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपील की थी कि 5 अप्रैल रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट के लिए लोग अपने घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे-खिड़की पर खड़े होकर दीया, मोमबत्ती जलाएं या फिर मोबाइल की फ्लैश लाइट-टॉर्च से रोशनी करें।

अयोध्या में दीपोत्सव के भव्य आयोजन को लेकर बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी काफी खुश हैं। इसको लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तारीफ की है।

इस बार अयोध्या में 5 लाख 51 हजार दीए जलाए गए जो खुद में एक रिकॉर्ड है। शुरुआत में राम का अवतार में कलाकार को होलिकॉप्टर से उतारा गया फिर योगी आदित्यनाथ ने राम और सीता की आरती कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया।