धोनी सन्यास

गांगुली(Sourav Ganguly) ने कहा, "चैलेंजर ट्रॉफी थी, उन्होंने मेरी टीम से सलामी बल्लेबाजी करते हुए शतक बनाया था। मुझे यह पता था। खिलाड़ी तब बनता है जब उसे ऊपर भेजा जाता है, आप निचले क्रम में रखकर किसी को खिलाड़ी नहीं बना सकते।

धोनी बहुत बड़े स्तर के खिलाड़ी हैं और टीम में उनकी भूमिका काफी ज्यादा अहम है। अब धोनी ने वेस्टइंडीज दौरे पर जाने से साफ मना कर दिया है और उन्होंने फैसला 2 महीने तक क्रिकेट से दूर रहेंगे।

दरअसल बीते विश्वकप में धोनी की धीमी बल्लेबाजी पर तमाम दिग्गजों ने सवाल खड़े किए थे। जिसके बाद सेमीफाइनल खत्म होते ही कयास लगाए जाने लगे कि धोनी कभी भी संन्यास ले सकते हैं।

झारखंड में नवबंर-दिसंबर में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इस दौरान एक सवाल पर जेपी नड्डा ने यह भी कहा कि यदि क्रिकेटर महेंद्र धोनी बीजेपी ज्वॉइन करना चाहते हैं तो उनका स्वागत है।

क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद राजनीति की पिच पर अपनी पारी की शुरुआत कर सकते हैं। कहा जा रहा है कि क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद वह भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थामेंगे।

एक न्यूज चैनल से बात करते हुए धोनी ने अपने संन्यास से जुड़े सवालों के जवाब में कहा कि, कुछ लोग चाहते हैं कि मैं संन्यास ले लूं। उन्होंने कहा कि, मुझे नहीं पता कि मैं कब संन्यास लूंगा।