नकवी

नकवी ने तब्लीगी जमात की तुलना तालिबानी जुर्म से करते हुए कहा कि इसे किसी भी कीमत पर माफ नहीं किया जा सकता।

नकवी जब लाल चौक पर पहुंचे तो उन्हें वहां देख लोग हैरान रह गए और अपनी प्रतिक्रिया देने लगे। नकवी को लाल चौक में देखकर एक स्थानीय व्यक्ति ने कहा कि 'यह तो मुख्तार अब्बास नकवी है। यह यहां कैसे?'