नरेंद्र मोदी

Ayodhya: भगवान राम की नगरी अयोध्या (Ayodhya) को दुनिया में बेहतरीन बनाने के उद्देश्य से कई काम किए जा रहे हैं। इसके साथ ही इस बात पर भी ध्यान दिया जा रहा है कि साफ-सफाई के मामले हो या सुविधा के मानक अयोध्या को सर्वोत्तम बनाने की कवायद शुरू हो गई है। योगी सरकार (Yogi Adityanath) की तरफ से इसके लिए IIM इंदौर का चयन किया गया है।

Congress: किसानों के आंदोलन को लेकर लगातार कांग्रेस पार्टी (Congress) के नेता नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार पर हमलावर है। अब इस सब के बीच कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने भी मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। सोनिया गांधी ने एक बयान जारी करते हुए कहा है कि आज़ाद भारत के इतिहास में पहली बार देश आज एक दोराहे पर खड़ा है। एक ओर देश का अन्नदाता पिछले 44 दिनों से दिल्ली की सीमाओं पर अपनी जायज़ मांगों के समर्थन में डटा हुआ है वहीं देश की निरंकुश, संवेदनहीन और निष्ठुर भाजपा सरकार ग़रीब किसान व मध्यम वर्ग की कमर तोड़ने में जुटी है।

विवार की सुबह से दिल्ली एनसीआर में बारिश हो रही है। ऐसे में कुछ लोग मुरादनगर थाना क्षेत्र के ही डिफेंस कॉलोनी में रहने वाले एक बुजुर्ग के अंतिम संस्कार में शामिल होने गाजियाबाद के श्मशान घाट आए थे। बारिश होने की वजह से अंतिम संस्कार करने आए लोग छत के नीचे खड़े हो गए। तभी श्मशान घाट का लेंटर भरभराकर गिर गया। जिसके बाद मलबे में कई लोग दब गए। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है।

Farmers Protest: सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) का किसान प्रेम दूसरी बार एक महीने में सामने आया। इससे पहले केजरीवाल 8 दिसंबर को सिंघु बॉर्डर पहुंचे थे। उससे पहले कृषि बिल के पास होते ही सीएम केजरीवाल ने इस कानून को लेकर एक नोटिफिकेशन जारी कर इसे दिल्ली में लागू कर दिया था। लेकिन जैसे ही कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आंदोलन तेज हुए केजरीवाल को बी अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने का मौका मिल गया।

Twitter Engagement: राजनीतिक श्रेणी में नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), अमित शाह (Amit Shah), योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के बाद क्रमवार राहुल गांधी और तेजस्वी यादव ने जगह बनाई है। आपको बता दें कि इस पूरी रिपोर्ट को देखें तो पता चलेगा कि राजनीतिक कैटेगरी में नरेंद्र मोदी नंबर एक पर हैं जिनकी ट्वीटर पर सक्रियता 76,65,669 दिखाई गई है।

Farmers Protest: कांग्रेस (Congress) नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार द्वारा बनाए गए 3 कृषि कानूनों का विरोध कर रही है और कह रही है कि इससे देश के किसानों को नुकसान होगा। ऐसे में वह किसानों के साथ खड़े हैं। जबकि राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ये तक बोल चुके हैं कि किसान किसी भी हालत में आंदोलन खत्म नहीं करेंगे। सरकार को अपने अंदर से ये बात निकाल देनी चाहिए की कृषि कानूनों को खारिज करने से कम पर किसान मानने वाले नहीं हैं। ऐसे में भाजपा की तरफ से वामदलों और कांग्रेस को इस आंदोलन में आग में घी डालने वाला बताया जा रहा है।

Farmers Protest: किसान दिवस के मौके पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने भी एक उच्च स्तरीय बैठक की और इसके बाद उन्होंने मीडिया से बताया कि KCC का विषय वाजपेयी जी के समय में आया था और उस समय किसान क्रेडिट कार्ड शुरू हुआ था, अभी तक 6 लाख करोड़ रुपये का ऋण प्रवाह कृषि क्षेत्र में होता था, मोदी जी ने इसे बढ़ाकर 15 लाख करोड़ रुपये किया।

Farmers Law: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) से मिलने किसानों का एक और दल पहुंचा था। जिसके बारे में खुद नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि ये किसान संगठन के नेता किसी भी हाल में कृषि कानूनों (agricultural law) में किसी तरह का संशोधन नहीं चाहते हैं। इनके अनुसार इन कृषि कानूनों में संशोधन से किसानों का नुकसान होगा। वह जस-के-तस इन कृषि कानूनों को अंगीकार करना चाहते हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने कहा कि हाल में ही भारत ने वैभव समिट भी होस्ट की थी। महीने भर चली इस समिट में पूरी दुनिया से भारतीय मूल के वैज्ञानिकों और रिसर्चर को एक मंच पर इकट्ठा किया गया। इसमें करीब 23 हजार साथियों ने हिस्सा लिया, 700 घंटों से ज्यादा की डिस्कशन हुई।

Farmers Protest: एक तरफ जहां किसान नए कृषि कानून (Agriculture law) के खिलाफ इस कड़ाके की सर्दी में प्रदर्शन कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ किसान इन कानूनों का समर्थन भी कर रहे हैं। रविवार को पश्चिमी यूपी के किसानों ने कृषि भवन में कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की और नए कानूनों का समर्थन करते हुए ज्ञापन सौंपा।