नागरिकता संशोधन अधिनियम

उत्तर प्रदेश विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम का विरोध करने वाले लोगों को समाजवादी पार्टी की सरकार आई तो पेंशन देने का काम करेगी।

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह तीन जनवरी को जोधपुर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के समर्थन में आयोजित रैली में शामिल होकर इस कानून के प्रति जागरूकता फैलाएंगे।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने विपक्ष की निराधार आशंकाओं और विभ्रम को दूर करने के लिए लगातार इस विषय को स्पष्ट किया है। हालांकि, इस संदर्भ में यह कहावत भी सत्य और समीचीन प्रतीत होती है कि जो सो रहा है उसे तो जगाया जा सकता है, मगर जो सोने का ढोंग कर रहा है उसे कैसे जगाया जाए?

सूत्रों ने बताया कि पार्टी के स्थापना दिवस में दिल्ली में पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी दिल्ली के कार्यक्रम में शामिल होंगे जबकि प्रियंका गांधी लखनऊ के कार्यक्रम में शामिल होंगी।

नागरिकता संशोधन अधिनियम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के मद्देनजर कानून-व्यवस्था की स्थिति को नियंत्रित करने के लिए दिल्ली के कुछ हिस्सों में वॉयस कॉल, एसएमएस और इंटरनेट सेवाओं को निलंबित करने के आदेश डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाहा ने 18 दिसंबर को दिए थे।

नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के खिलाफ राजघाट पर सोमवार को कांग्रेस द्वारा आयोजित विरोध प्रदर्शन से पहले पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने छात्रों और युवाओं से इसमें शामिल होने की अपील की है।

घायल होने वाले पुलिस वालों में  57 पुलिसकर्मी प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से घायल हुए हैं। बता दें यूपी में इस कानून को लेकर हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है।

देशभर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ हो रहे हिंसक प्रदर्शन के बीच बेंगलुरू में एक आईपीएस रैंक के पुलिस अधिकारी ने राष्ट्रगान गाकर प्रदर्शनकारियों का दिल जीत लिया, जिसके बाद प्रदर्शनकारी शांतिपूर्वक वहां से लौट गए।

किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय में ट्रॉमा सेंटर के एक डॉक्टर ने कहा, "फॉरेंसिक विशेषज्ञ जांच कर यह बता पाएंगे कि किस तरह की गोली से उसकी जान गई है। वह जब यहां लाया गया तो उसके पेट में गोली लगी हुई थी

नागरिकता कानून को लेकर हो रहे प्रदर्शन की आग गुजरात के अहमदाबाद तक पहुंच गई। गुरुवार को प्रदर्शनकारियों ने पुलिस की टीम को निशाना बनाते हुए पथराव किया। इस हिंसक प्रदर्शन का एक वीडियो भी सामने आया है, जिसमें प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पुलिसकर्मियों को पीटते दिखाई दे रहे हैं।