नागरिकता संशोधन कानून

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और एनआरसी के मसले पर देशभर में हिंसक प्रदर्शनों के बाद केंद्र सरकार ने जनता से बहकावे में न आने की अपील की है। सीएए और एनआरसी पर उठते सवालों का जवाब देकर सरकार ने शंकाओं का समाधान करने की कोशिश की है।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में उत्तर प्रदेश के संभल में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद यूपी पुलिस एक्शन में आ गई है। पुलिस ने संभल से समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क और जिलाध्यक्ष फिरोज खान पर मुकदमा दर्ज किया है। उनके साथ ही 17 नामजद और 250 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन जारी है। राजधानी दिल्ली से लेकर नार्थ ईस्ट तक, उत्तर प्रदेश,  बिहार, पश्चिम बंगाल, असम, दक्षिण भारत के कई राज्यों में भारी विरोध प्रदर्शन हो रहा है। ऐसे में विपक्षी दलों ने बिल के खिलाफ केंद्र सरकार पर तंज कसना शुरू कर दिया है।

गुरुवार को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सभी वामदल और मुस्लिम संगठन ने भारत बंद का आह्वान किया है। इस बंद का असर उत्तर प्रदेश से लेकर बेंगलुरु तक देखने को मिला। देश की राजधानी दिल्ली में विरोध प्रदर्शन को देखते हुए कई मेट्रो स्टेशन बंद करने पड़े।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन देशभर में देखे जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस उत्पात में प्रदर्शनकारियों ने 20 मोटरसाइकिल, 10 कारें, 4 मीडिया के ओबी वैन और 3 बसें जला दी।

देशभर में हो रहे नागरिकता कानून को लेकर प्रदर्शन के बीच ओवैसी ने एक रैली का आयोजन किया है, जहां वो लोगों से शामिल होने की अपील कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि इस रैली के सहारे ओवैसी अपनी सियासत को चमका चाह रहे हैं।

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन देशभर में देखे जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में प्रदर्शनकारियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस उत्पात में प्रदर्शनकारियों ने 20 मोटरसाइकिल, 10 कारें, 4 मीडिया के ओबी वैन और 3 बसें जला दी।

दिल्ली में नागरिकता संशोधन एक्ट (CAA) के खिलाफ देश के कई शहरों में हो रहे प्रदर्शन को देखते हुए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अपने आवास पर अहम बैठक

एक तरफ देशभर में नागरिकता संशोधन कानून को लेकर माहौल गर्माया हुआ है। वहीं दूसरी ओर अन्य देश भी इसपर अपनी पैनी नजर रखे हुए हैं। जहां पाकिस्तान इससे बौखलाया हुआ है, वहीं कई देशों ने भारत में जानेवाले अपने देशवासियों को एडवायजरी भी जारी की है। इसी बीच अमेरिका ने भी इस एक्ट को लेकर एक बयान जारी किया है। अमेरिका ने कहा कि 'हम भारतीय लोकतंत्र का सम्मान करते हैं।'

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के लिए पार्टी के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने दावा किया है कि मुर्शिदाबाद जाते समय उनकी गाड़ी को मुस्लिमों की भीड़ ने घेर लिया।