नितिन गडकरी

कोरोना से लड़ने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी हर स्तर पर प्रयास कर रहे हैं। उनका यह प्रयास रंग लाता दिखाई दे रहा है। पूरा देश लॉकडाउन में है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इससे आपात सेवाओं के काम में लगे लोगों को मदद मिलेगी। मंत्री ने कहा कि सड़कों का प्रबंधन और टोल प्लाजा पर आपात संसाधन की मौजूदगी पहले की तरह ही रहेगी।

नितिन गडकरी ने कहा इसलिए हमें वीर सावरकर को हमेशा याद रखना होगा क्योंकि अगर हम भूल जाएंगे तो जो 1947 में हुआ था वो ही दोबारा होगा, इसलिए हिंदुस्तान को भविष्य में जीवित रखना है तो हमें सावरकर को अपने विचारों और सोच में हमेशा जीवित रखना होगा।

नड्डा अमित शाह की जगह पार्टी के नए अध्यक्ष बने हैं। वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी समेत कई बड़े नेताओं की मौजूदगी में उन्हें निर्विरोध अध्यक्ष चुना गया।

इस बीच महाराष्ट्र भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल की अगुवाई में आज पार्टी नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मुलाकात की। इस प्रतिनिधिमंडल में चंद्रकांत पाटिल के अलावा अन्य नेता गिरीश महाजन, सुधीर मुनगंटीवार और आशीष शेलार थे।

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी सियासी घमासान पर केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने बड़ा बयान दिया है। नितिन गडकरी ने आखिरकार महाराष्ट्र में सरकार गठन और मुख्यमंत्री को लेकर चल रहे सस्पेंस से पर्दा उठाया है और अपनी चुप्पी भी तोड़ी।

किशोर तिवारी ने मामले को सुलझाने के लिए केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी को भेजने की मांग की। किशोर तिवारी ने कहा कि नितिन गडकरी दो घंटे में स्थिति का समाधान कर सकते हैं।

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने इसके लिए ज़रूरी निर्देश जारी कर दिए है। गडकरी ने ऐसे ठेकेदारों की पहचान करने को कहा है।

गडकरी ने कहा कि कभी खुशी होती है, कभी गम होता है। कभी आप सफल होते हैं और कभी आप असफल होते हैं। यही जीवन चक्र है, जीवन का हिस्सा है। गडकरी के इस बयान से एक दिन पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था में तेजी लाने के लिए कई कदम उठाए।

केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने दिल्ली सरकार के इस फैसले को गैरजरूरी बताया है। नितिन गडकरी ने कहा है कि राजधानी में अब इसकी जरुरत नहीं है।