निर्यात

ये स्वदेशी का विचार कोई बंदवाद भी नहीं है बल्कि ये आत्मनिर्भरता व स्वलंबन के विचार को आत्मसात करके दुनिया से सम्पर्क बनाने का विचार है।

कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते भारत से चीन को रूई और धागे का निर्यात ठप पड़ गया है और कपड़ा उद्योग में इस्तेमाल होने वाला रासायनिक पदार्थ व एसेसरीज आइटम का आयात नहीं हो रहा है, जिससे घरेलू कपड़ा उद्योग पर असर पड़ा है।

दुनिया में दाल का सबसे बड़ा उत्पादक होने के बावजूद भारत को अपनी जरूरतों के लिए दाल का आयात करना पड़ता है।

ट्रेड प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया के चेयरमैन मोहित सिंगला ने कहा, "उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं और उपभोक्ता गैर टिकाऊ वस्तुएं जैसे इलेक्ट्रॉनिक गुड्स, फार्मा, मरीन और टेक्सटाइल्स में जुलाई 2019 के महीने में निर्यात में 2.25 फीसदी की वृद्धि हुई है।"

पाकिस्तान से भारत का आयात इस वर्ष मार्च में घट कर 28.4 करोड़ डालर के बराबर रहा जबकि मार्च 2018 में यह आंकड़ा 3.5 करोड़ डालर था।

मई में तेल का आयात कुल 12.44 अरब डॉलर का रहा, जोकि डॉलर के संदर्भ में 2018 के मई की तुलना में 8.23 फीसदी अधिक है। पिछले साल मई में कुल 11.50 अरब डॉलर के तेल का आयात किया गया था।

मंत्रालय के अनुसार, वित्त वर्ष 2018-19 में कुल आयात 507.44 अरब डॉलर रहा जबकि उसके पिछले वित्त वर्ष 2017-18 में आयात 465.58 अरब डॉलर था।