पश्चिम बंगाल

मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर पीएम को चिट्ठी लिखने वाले सिविल सोसायटी के लोगों ने अब ममता बनर्जी को भी चिट्ठी लिख दी है। उन्होंने ममता से अध्यापकों और कलाकारों पर लाठीचार्ज को लेकर सवाल कर दिए हैं।

पश्चिम बंगाल में पोंजी स्कीम की जांच पड़ताल में जुटी सीबीआई को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। सीबीआई ने अपनी छानबीन में इस घोटाले की एक बड़ी कड़ी पकड़ ली है। ये कड़ी तृणमूल कांग्रेस के एक के बाद दूसरे नेताओं पर शिकंजा कसती जाती है। इसमें ममता बनर्जी की कैबिनेट के कई मंत्री भी शामिल हैं।

पश्चिम बंगाल में कोलकाता की गलियों में शनिवार को एक अलग ही नजारा देखने को मिला। पोस्टर लेकर एक युवक ने सोशल मीडिया एक्सपेरिमेंट किया जिसपर लिखा था कि मैंं पाकिस्तान से हूं, कृपया, मुझे थप्पड़ मारें या गले लगा लें।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा समितियों के ज़रिए काले धन को सफेद करने के एक बड़े रैकेट का पर्दाफाश हुआ है। आयकर विभाग की जांच में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

स्कूल के हेडमास्टर रोहित पाइने ने कहा, "हम प्रश्न पत्र में विसंगति होने की बात स्वीकार करते हैं। शिक्षक ने इन विषयों को अनजाने में दिया। उन्हें इसका एहसास नहीं था कि यह भावनाओं को आहत करेगा। उसने गलती के लिए माफी मांगी है।

पश्चिम बंगाल में जय श्री राम बोलने पर घमासान जारी है। ममता बनर्जी सरकार लगातार जय श्री राम को बांटने वाले नारे के तौर पर प्रचारित कर रही है।

सुषमा स्वराज अपने अंतिम सफर तक भारतीयता में घुली रची अपनी पहचान के साथ चलती रहीं। उनके माथे की बड़ी सी बिंदी उनके पूरे राजनीतिक जीवन में भारतीयता की निशानी बन उनके साथ रही।

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर न केवल भारत में, बल्कि अन्य देशों के राजनयिकों द्वारा भी शोक व्यक्त किया जा रहा है।

प्रदेश के चिकित्सा मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया, "सुषमा पश्चिमी विधानसभा क्षेत्र में मेरे पिता लालजी टंडन का प्रचार करने आती रही हैं। लोकसभा से लेकर विधासभा के चुनावों में भी स्टार प्रचारक के रूप में उनकी काफी अहमियत रही है।

निधन के कुछ दिन पहले सुषमा स्वराज ने एक पब्लिक कार्यक्रम में हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में उन्होंने बंगाल हिंसा पर चर्चा की और साथ ही उन्होंने अपने विचार भी रखे। ये उनका आखिरी कार्यक्रम था।