पीएम मोदी

पीएम मोदी जब 2015 में चीन की यात्रा पर गए थे तो उन्होंने वेइबो पर अकाउंट बनाया था और इसके जरिये चीनी जनता से संवाद जारी रखे हुए हैं। हालांकि, इस अकाउंट पर हालिया सैन्य झड़प संबंधी कोई पोस्ट नहीं डाली गई है।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे यहां निष्काम कर्म को बिना किसी स्वार्थ के, सभी का उपकार करने की भावना को भी कर्मयोग कहा गया है। कर्मयोग की ये भावना भारत के रग रग में बसी हुई है।

सुरजेवाला ने एक बयान जारी कर कहा, ‘‘सबसे पहले प्रधानमंत्री और सरकार को गलवान घाटी को लेकर अपना रुख स्पष्ट करने की जरूरत है। क्या गलवान घाटी भारतीय क्षेत्र का हिस्सा नहीं है?

पीएम मोदी आज 'गरीब कल्याण रोजगार' अभियान का शुभारंभ करेंगे। पीएम लॉकडाउन के दौरान अपने गृह राज्य लौटे प्रवासी मजदूरों को सशक्त करने और उन्हें आजीविका मुहैया कराने के लिए आज इस अभियान का शुभारंभ करेंगे।

आपको बता दें कि भारत-चीन की सीमा पर जवानों की शहादत पर देश में जो माहौल बना है उसको लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर पीएम मोदी के आवास पर मुलाकात करने पहुंचे।

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असंभव को संभव कर दिखाया है। मोदी ने अनेक ऐसे फैसले लिए हैं, जिनको देखकर देश चमत्कृत है।

सेना ने प्रधानमंत्री और उनके कैबिनेट सहयोगियों को गलवन घाटी में पेट्रोलिंग पॉइंट 14 के पास एलएसी पर चीनी सेना की गतिविधियों और अन्य बिंदुओं पर जानकारी दी थी।

नेपाल के दावे पर भारत की तरफ से कहा गया था कि, क्षेत्र पर 'कृत्रिम रूप से बढ़ा-चढ़ाकर दावा करने' को वह स्वीकार नहीं करेगा और उसने पड़ोसी देश से कहा कि वह इस तरह के 'अनुचित मैप दावे' से बचे।

भारत और नेपाल के बीच आजकल सीमा को लेकर तनातनी का माहौल है। मगर इसके बावजूद भी भारत कूटनीतिक नजरिये से नेपाल का साथ दे रहा है। भारत नेपाल के साथ बेहतर सम्बंध बनाए रखने पर जोर दे रहा है।

पीएम मोदी गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के साथ भारत-ऑस्ट्रेलिया वर्चुअल शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। जहां दोनों नेता द्वीपक्षीय रणनीतिक संबंधों को और ज्यादा मजबूत बनाने और कोरोनावायरस जैसी घातक महामारी से निपटने के मुद्दे पर चर्चा करेंगे।