पी चिदंबरम

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अब कम से कम शेष भारत के लोग कश्मीर में हिरासत में लिए गए लोगों के साथ हुए अन्याय को समझेंगे।

प्रियंका ने हिंदी में ट्वीट किया और कहा, कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने का एकमात्र रास्ता ज्यादा से ज्यादा टेस्टिंग है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुनिया में महामारी बन चुके कोरोनावायरस पर गुरुवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में जहां देशवासियों को इसके खतरों से आगाह किया, वहीं बचने के लिए तमाम अहम सुझाव दिए।

पी चिदंबरम ने कहा कि, सरकार को WHO और और ICMR अब डॉ.देवी शेट्टी की चेतावनी पर ध्यान देना चाहिए। सरकार को कई कस्बों और शहरों में आंशिक या पूर्ण तालाबंदी पर विचार करना चाहिए।

अपने कांग्रेस के साथियों शशि थरूर और राहुल गांधी के विपरीत चिदंबरम ने देश में घातक वायरस को नियंत्रित करने के सरकार के अब तक प्रयासों की सराहना की।

पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम गुरुवार को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) के मुद्दों पर संबोधित करेंगे।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने बुधवार को कहा- हमारे पास प्रोजेक्ट करने के लिए कोई नेता नहीं है। यह पार्टी के भीतर एक गंभीर मुद्दा है। हम इसे जल्द से जल्द हल करेंगे।

दरअसल गुरुवार को कांग्रेस मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि एक मंत्री के तौर पर उनका रिकॉर्ड साफ है। चिदंबरम ने कहा कि जिन लोगों, अधिकारियों ने उनके साथ काम किया वे इस बात को जानते हैं।

गौरतलब है कि पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम 106 दिनों के बाद जेल से बाहर आ गए हैं। INX मीडिया मामले में सीबीआई ने पी. चिदंबरम को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया था, बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट से उन्हें ज़मानत मिली थी।

बुधवार को आईएनएक्स मीडिया मामले में वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम को सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दे दी थी, जिसके बाद बुधवार की शाम को वो तिहाड़ जेल से बाहर आए।