पुलवामा आतंकी हमला

जेके पुलिस के डीजीपी के मुताबिक साल 2019 में घाटी में 160 आतंकवादियों को मारा गया है। इस बीच आतंकी संगठन ज्वाइन करने वाले युवाओं की संख्या भी तेजी से घटी है।

राफेल विमान सौदे में भ्रष्टाचार, पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाक अधिकृत कश्मीर में एयर स्ट्राइक को लेकर सरकार को घेरने की कवायद के बीच 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा गया और सारे दावों को धता बताते हुए मोदी 2.0 सरकार कहीं अधिक मजबूती के साथ केंद्र में आई।

साल 2019 में जब नरेंद्र मोदी सरकार प्रचंड बहुमत से आई तो उसके सामने सबसे बड़ी चुनौती देश की अर्थव्यवस्था को उबारने के रूप में थी।

साल 2019 में एनडीए गठबंधन को फिर से केंद्र की सत्ता मिल गई लेकिन भाजपा के कई दिग्गज नेताओं को खोने का दुःख भी इस साल पार्टी के हिस्से में आया।

साल 2019 को अलविदा कहने से पहले नरेंद्र मोदी सरकार के उन तीन बड़े फैसले और तीन बड़े विवाद को जानना जरूरी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोबारा सत्ता संभाली तो उन्होंने अपनी पार्टी के घोषणापत्र पर काम करना शुरू कर दिया। मोदी 2.0 सरकार ने ऐसे कई फैसले लिए जो ऐतिहासिक रहे।

पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर के मामले में आज जहां भारत को एक बड़ी सफलता मिल सकती है, वहीं चीन को तगड़ा झटका लग सकता है। मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक, संयुक्त राष्ट्र आज पुलवामा आतंकी हमलों के जिम्मेदार जैश चीफ को ग्लोबल आतंकी घोषित कर सकता है।

मिजोरम के पूर्व राज्यपाल और कांग्रेस नेता अजीज कुरैशी ने पुलवामा आतंकी हमले को लेकर विवादित बयान दिया है। अजीज कुरैशी ने दावा किया है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुआ हमला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की साजिश थी।

चीन ने बुधवार को कहा कि वह पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के प्रमुख मसूद अजहर को काली सूची में डालने के मुद्दे पर कड़ी परिश्रम कर रहा है। इसके साथ ही चीन ने अमेरिका को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में खुद का मसौदा प्रस्ताव पेश करने को लेकर एक बार फिर चेतावनी दी है।

संयुक्त राष्ट्र में जैश सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने प्रस्ताव पर चीन द्वारा वीटो करने के बाद फ्रांस ने इस आतंकवादी सरगना पर अब खुद से ऐक्शन लेने का फैसला कर लिया है।