प्रयागराज

माहिम दरगाह के आई-टी निदेशक सबीर सैयद ने आईएएनएस को बताया, "ऐसा करने का विचार बच्चन साहब का रहा, जो लॉकडाउन के बाद से प्रवासी मजूदरों को हो रही परेशानियों से खासा चिंतित थे। उन्होंने अपनी तरफ से एक प्रस्ताव रखा और माहिम दरगाह ने इस पर सारी व्यवस्थाओं को करने की पेशकश की।"

सीएम ने कहा कि राज्य सरकार 23 करोड़ जनता को इस महामारी से बचा रही है और अलग-अलग प्रदेशों में फंसे अपने मजदूरों व प्रतियोगी छात्रों को सुरक्षित निकाल कर उन्हें घर पहुंचा रही है।

राजस्थान के कोटा से कई स्टूडेंट्स को रोडवेज की बसों से प्रयागराज लाया गया। जिसमें 13 छात्राएं और 31 छात्र हैं।

इसके चलते गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, हापुड़, बिजनौर, बागपत, वाराणसी, भदोही, मथुरा, आगरा, सीतापुर, बाराबंकी, प्रयागराज, बहराइच, गोंडा और बलरामपुर जिलों में खासी सतर्कता बरती जा रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को प्रयागराज के दौरे के बाद सीधे चित्रकूट के भरतकूप स्थित गोड़ा गांव पहुंचे और बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का शिलान्यास किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को प्रयागराज में 26,791 दिव्यांगजन और बुजुर्गों को सहायता उपकरण वितरित किए। उन्होंने कुछ दिव्यांगों और बुजुर्गों को मंच पर बुलाकर भी उपकरण दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वरिष्ठ जन हों, दिव्यांगजन या आदिवासी हों, दलित-पीड़ित, शोषित, वंचित हों, 130 करोड़ भारतीयों के हितों की रक्षा करना, उनकी सेवा करना, हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बसंत पंचमी के मौके पर गुरुवार तड़के प्रयागराज में गंगा और यमुना नदी के मिलन स्थल संगम में डुबकी लगाई। पवित्र संगम में डुबकी लगाने वालों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह और अन्य लोगों ने भी डुबकी लगाई।

मुख्यमंत्री ने संगम के तट पर पूजा भी की और उसके बाद सेल्फी पॉइंट पर फोटो भी खिंचवाईं। इसके साथ ही बैलून उड़ाकर स्वच्छता का सन्देश दिया। इस अवसर पर उन्होंने पतंग भी उड़ाई।

प्रयागराज स्थित रेवेन्यू बोर्ड में सरकारी वकील दीपक सक्सेना ने कहा, उत्तर प्रदेश जमींदारी उन्मूलन और भूमि सुधार अधिनियम के तहत छोटे दलित भूस्वामी अपनी जमीन गैर-अनुसूचित जाति के व्यक्ति के नाम स्थानांतरित नहीं कर सकते हैं