प्रवासी मजदूर

योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि उत्तर प्रदेश वापस आने के इच्छुक प्रवासी श्रमिकों के बारे में पता लगाने के लिए सभी राज्य सरकारों को पत्र भेजा जाना चाहिए।

मध्य प्रदेश को शिवपुरी ज़िले से शर्मसार करने वाली फिर एक तस्वीर सामने आयी है। प्रवासी मज़दूरों के साथ पहले राजस्थान सरकार ने संगदिली दिखाई।

सुप्रीम कोर्ट के अनुसार राज्य और केंद्र सरकार से इस मामले में भयंकर चूक हुई हैं। सरकारों को हर हाल में मजदूरों के रहने और खाने पीने का इंतजाम करने को कहा है। 

राहुल गांधी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर लिखा- दिल्ली में ऊबर ड्राइवर परमानंद के साथ अच्छी बातचीत हुई। परमानंद और उनके जैसे अन्य लोगों की समस्याओं को लेकर चर्चा की।'

उत्तर प्रदेश सरकार और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के चीफ राज ठाकरे प्रवासी मजदूरों के मसले परआमने-सामने आ गए हैं। राज ठाकरे ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ भी यह बात ध्यान रख लें कि प्रवासियों को अब महाराष्ट्र आने से पहले इजाजत लेनी चाहिए। इसके साथ ही राज ठाकरे ने उद्धव सरकार से एक अपील भी की।

छह महीने की गर्भवती प्रवासी महिला मजूदर ने चलती बस में जुड़वां बच्चियों को जन्म दिया। इस दौरान यह बस बरेली जिले में से होकर गुजर रही थी।

योगी सरकार हर कामगार/श्रमिक को बीमा की सुरक्षा देने जा रही है। प्रदेश में एक जनपद के कामगार व श्रमिक को दूसरे जनपद में रोजगार मिलने पर सरकार उनकी आवासीय व्यवस्था भी करेगी।

24 मई की रात 12 बजे रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट किया और लिखा, 'रात के 12 बज चुके है और 5 घंटे बाद भी हमारे पास महाराष्ट्र सरकार से कल की 125 ट्रेनों की डिटेल्स और पैसेंजर लिस्टें नही आयी है। मैंने अधिकारियों को आदेश दिया है, फिर भी प्रतीक्षा करे और तैयारियां जारी रखे।'

भारतीय रेलवे ने रविवार को दावा किया कि उसने 2,813 श्रमिक विशेष ट्रेनें चलाई हैं, जिससे अब तक 37 लाख से अधिक यात्रियों को भेजा गया है।

कोरोना संकट काल में उत्तर प्रदेश सरकार विभिन्न राज्यों से आए प्रवासी मजदूरों के हित में लगातार योजनाओं पर काम कर रही है। अब उत्तर प्रदेश सरकार प्रवासी कामगारों के सेवायोजन के लिए प्रवासी आयोग बनाने जा रही है।