प्राइवेटाइजेशन

सरकार ने 109 रूट्स पर प्राइवेट प्लेयर्स की मदद से 151 आधुनिक ट्रेन चलाए जाने की योजना तैयार की है। सरकार के इस फैसले से रेलवे के निजीकरण को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है।