प्रियंका गांधी

लेकिन अब कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को बड़ी जिम्मेदारी दी है और ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफा देने के बाद प्रियंका गांधी को पूरे उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है।

रॉबर्ट वाड्रा राहुल गांधी के समर्थन में एक बार फिर सामने आ गए हैं। राहुल गांधी के समर्थन में वाड्रा का बार बार सामने आना बहुत कुछ कहता है।

लोकसभा चुनाव में मिली विफलता के बाद 134 साल पुरानी पार्टी कांग्रेस में बिखराव होता दिखाई दे रहा है। पार्टी के शीर्ष नेतृत्व स्तर पर उथल-पुथल के बीच राज्यों में विधायक और नेता इस पुरानी पार्टी से नाता तोड़ने लगे हैं।

राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद कांग्रेस पार्टी में इस्तीफे का दौर जारी है। सिंधिया का इस्तीफा भी इसी कड़ी में है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पहले ही पीसीसी चीफ के पद से इस्तीफा दे चुके हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रविवार को भारतीय क्रिकेट टीम को इंग्लैंड में चल रहे विश्व कप में अपने अंतिम ग्रुप चरण के मैच में श्रीलंका के खिलाफ जीत पर बधाई दी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार पर बुधवार को हमला बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि उप्र में अपराधियों की हरकतें चरम पर हैं, जबकि सरकार इससे जुड़े सवालों पर झूठ बोल रही है।

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश में बुरी तरह हारी। उनके भाई और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी अमेठी में चुनाव हार जाते हैं बुरी तरह से।

"पूरे उत्तर प्रदेश में अपराधी खुलेआम मनमानी करते घूम रहे हैं। एक के बाद एक अपराधिक घटनाएं हो रही हैं। मगर भाजपा सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही। क्या उत्तर प्रदेश सरकार ने अपराधियों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है?"

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कानून व्यवस्था को लेकर गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मासूमों के साथ दरिंदगी की जा रही लेकिन सत्ता के राग दरबारियों की आंखें कुछ नहीं देख रही हैं।

कांग्रेस की ये बैठक संसद सत्र से पहले हुई है। इस बैठक में एके एंटनी, जयराम रमेश, गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे मौजूद थे। बैठक पार्टी के वरिष्ठ नेता एके एंटनी की अध्यक्षता में हुई।