प्रियंका गांधी

पिछले कुछ महीनों से अपना दल अपनी मांगों के साथ भाजपा से नाराज चल रही थी। जिसके चलते अनुप्रिया पटेल ने बीजेपी को 20 फरवरी तक का समय दिया था।

पिछली बार जब राबर्ट वाड्रा पेशी के लिए दिल्ली के ईडी दफ्तर पहुंचे तो एजेंसी के कार्यालय के बाहर युवा कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ईडी के विरुद्ध नारे लगाए।

इसको लेकर जेडीयू नेता अशोक चौधरी ने सवाल उठाते हुए कहा कि "कैसे लोगों को राष्ट्रीय सचिव बनाया जा रहा है। कुमार आशीष अपराधी प्रवृति का रहा है और कई बार जेल जा चुका है। ऐसे दागियों को प्रियंका के साथ लाया जा रहा है।

टिकट बंटवारे के कारण अंतरकलह को रोकने के लिए कांग्रेस ने अपने सभी प्रदेशाध्यक्षों को लोकसभा चुनाव के लिए उम्मीदवार चयन की प्रक्रिया को इस महीने में पूरा करने का निर्देश दिया है, जिसके बाद कांग्रेस की चुनाव समिति द्वारा उसे मंजूरी दी जाएगी।

इसके अलावा पार्टी में अनुशासन बनाए रखने के लिए प्रियंका गांधी ने नेताओं को भी चेतावनी दी कि अगर कोई भी पार्टी-विरोधी गतिविधि में शामिल पाया जाता है तो उसे तुरंत बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में मौजूद प्रियंका ने कहा, "लेकिन, हमें कश्मीर में बड़ी संख्या में हताहतों के बारे में भी चिंतित होना चाहिए। हम मांग करते हैं कि इस सरकार को ऐसे ठोस कदम उठाने चाहिए कि इस तरह की आतंकी घटना दोबारा भविष्य में न हो।"

रोड शो से पहले @priyankagandhi ट्विटर हैंडल पर करीब 17 हजार फॉलोअर्स थे। जैसे-जैसे रोड शो आगे बढ़े, फॉलोअर्स की संख्या भी तेजी से बढ़ती चली गई।

ईडी ने कई बार समन जारी किए तो वाड्रा ने राजस्थान हाईकोर्ट की जोधपुर पीठ में अपील दायर कर पूछताछ पर सवाल उठाए थे। लेकिन, उन्हें राहत नहीं मिली।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा लखनऊ में रोड शो कर अपने सियासी सफर की शुरुआत करने वाली  है। लेकिन अपने पहले रोड शो से पहले प्रियंका गांधी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर भी एंट्री कर ली है। 

लखनऊ में प्रियंका गांधी के स्वागत में कई आकर्षक पोस्टर लगाए गए हैं। एक पोस्टर में प्रियंका को मां दुर्गा का रूप बताया गया है। इस पोस्टर में प्रियंका दुर्गा के रूप में शेर पर बैठी नजर आ रही हैं।