प्रियंका चतुर्वेदी

शिवसेना की तरफ से प्रियंका चतुर्वेदी को राज्यसभा का उम्मीदवार बनाए जाने की घोषणा की गई। इसके बाद प्रियंका ने अपना नामांकन दाखिल किया।

इंदिरा गांधी ने प्रधानमंत्री रहते हुए वीर सावरकर की लिखित में प्रशंसा की थी। अब इंदिरा गांधी के इस पत्र के सामने आने के बाद कांग्रेस इस मामले पर भी बैकफुट पर आती नजर आ रही है।

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया और वह शिवसेना में शामिल हो गईं। शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में उन्होंने पार्टी की सदस्यता ली। प्रियंका ने आरोप लगाया कि उनके साथ बदसलूकी की गई। और पार्टी ने इसे नजरअंदाज कर दिया। प्रियंका ने जब ट्वीट कर ये बात शेयर की तो सोशल मीडिया पर भारी समर्थन मिला। बॉलीवुड अभिनेत्री ऋचा चड्ढा ने उनका समर्थन किया और इसके लिए राहुल गांधी-प्रियंका गांधी को जमकर खरी-खोटी सुनाई है।

प्रेस कांफ्रेंस हो या फिर टीवी पर डिबेट, कई जगहों पर कांग्रेस का पक्ष मजबूती से रखने वाली प्रियंका चतुर्वेदी अब कांग्रेस का साथ छोड़ चुकी हैं। उन्होंने कांग्रेस से इस्तीफा देकर शिवसेना का दामन थाम लिया है।

17 अप्रैल को ट्वीट करते हुए प्रियंका ने अपनी नाराजगी जाहिर की थी। जिसके बाद से वो किसी डिबेट शो में नजर नहीं आईं और ना ही उन्होंने कोई बयान ही दिया था।

लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार की सरगर्मी के बीच एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। टीवी डिबेट्स में कांग्रेस का पक्ष रखने वालीं पार्टी प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने आरोप लगाया है कि पार्टी में उन गुंडों को तवज्जो दी जा रही है, जो महिलाओं के साथ बदसलूकी करते हैं।

नई दिल्ली। वित मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर तीखा प्रहार करते हुए अपने फेसबुक...