प्रीति

प्रीति ने कहा, "मैं काफी खुश हूं, अपनी खुशी को शब्दों में बयां नहीं कर सकती हूं। अब मैं सिर्फ लता जी, आशा जी और श्रेया दीदी से मिलना चाहती हूं और उनके पैर छूकर उनका आर्शीवाद लेना चाहती हूं।"