बकरीद

दरअसल पाकिस्तान अपने अंदरूनी हालातों से बुरी तरह परेशान है। पाकिस्तान की विफल कश्मीरी नीति और आतंकवादियों को शह देने के फैसलों का खुद वहां की जनता और विपक्षी पार्टियां जमकर विरोध कर रही हैं।

राज्य प्रशासन ने नमाज की व्यवस्था की देखरेख करने को लेकर और यह त्योहार शांतिपूर्ण ढंग से मनाया जा सके इसके लिए स्थानीय मौलवियों के साथ बैठक भी की।

देशभर में आज ईद-उल-अजहा का त्योहार धूमधाम से मनाया जा रहा है। वहीं बकरीद के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई बड़े नेताओं ने देश को शुभकामनाएं दीं।

देशभर में आज हर्षोल्लास के साथ ईद-उल-अजहा (बकरीद) मनाई जा रही है। देश के सभी मस्जिदों और ईदगाहों में नमाज अदा की जा रही है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद नए जम्मू-कश्मीर की पहली बकरीद आज है। इस मौके पर जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा के मद्देनजर कड़े इंतजाम किए गए हैं।

धारा 144 के हटने के बाद की जो तस्वीर सामने आई है इसके मुताबिक जम्मू में आज दुकानें, बाजार और स्कूल कॉलेज खुले हुए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक राज्य के 10 जिलों में हालात सामान्य है।

हाल ही में उनका एक वीडियो सामने आया था जिसमे वे शोपियां जिले में कश्मीरियों से बात करते नजर आए थे। मगर कश्मीर में शांति बहाली की कोशिशों का असली इम्तिहान आज है। आज जुमे की नमाज का दिन है। प्रशासन हालात सामान्य होने की सूरत में नमाज के लिए ढील दे सकता है।

ऐसे कई संगठन नाम बदलकर खाल हड़पने की फिराक में हैं जिन पर कड़ी नजर रखने के लिए कहा गया है।