बजट सत्र

Parliament Budget Session: केंद्रीय बजट पर चर्चा करते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि आज इंटरेस्ट रेट कम हो रहा है। कई सहूलियतें मिल रहीं हैं। जिससे आम आदमी और गरीबों को घर मिल रहा है।

Budget Session: संसद के बजट सत्र में लगातार हंगामा देखने को मिल रहा है। इस बीच वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार को राज्यसभा में सुबह 11 बजे बजट पर चर्चा का जवाब देंगी।

Parliament Session: पीएम मोदी ने कहा कि मैंने देखा कि यहां कांग्रेस के साथियों ने कृषि क़ानूनों पर चर्चा की, वो रंग पर तो बहुत चर्चा कर रहे थे कि काला है या सफेद है, परन्तु अच्छा होता अगर वो इनके इंटेंट पर और इसके कंटेंट पर चर्चा करते। ताकि देश के किसानों तक सही चीजें पहुंचती।

Farmers Protest: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने सुचारू रूप से संसद के कामकाज को ध्यान में रखते हुए बजट सत्र से पहले शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता की।

Union Budget 2021: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) सुचारू रूप से संसद के कामकाज को ध्यान में रखते हुए बजट सत्र से पहले शनिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता करेंगे।

All Party Meeting: एक फरवरी को पेश होने वाले बजट से पहले मोदी सरकार (Modi Govt) सभी दलों से विचार-विमर्श करेगी। केंद्र सरकार ने 30 जनवरी को वीडियो कांफ्रेंसिंग से होने वाली सर्वदलीय बैठक में सभी राजनीतिक दलों के दोनों सदनों के नेताओं को आमंत्रित किया है।

Budget 2021: देशभर में कोरोनावायरस ने जिस तरह का कोहराम मचाया उसकी वजह से कई संस्थाओं को अभी तक शुरू नहीं किया जा सका है। इसी बीच संसद का शीतकालीन सत्र भी टाल दिया गया था। लेकिन अब संसद का बजट सत्र जनवरी के महीने में ही शुरू होनेवाला है और इसके लिए आधिकारिक घोषणा कर दी गई है। मिल रही सूचना के अनुसार संसद का बजट सत्र (Budget Session) अब 29 जनवरी से शुरू होगा और इस बार भी आम बजट (Union Budget) 1 फरवरी को पेश किया जाएगा।

संसद के बजट सत्र का दूसरा भाग आज से शुरू हो रहा है। सत्र ऐसे समय में शुरू हो रहा है जब दिल्ली में हिंसा हुई है। हालांकि, दिल्ली में स्थिति तो सामान्य होने लगी है, लेकिन संसद सत्र को लेकर राजनीति गरमाने लगी है।

बता दें कि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल के दौरान 1 जुलाई 2017 से जीएसटी लागू किया गया था। इसका मकसद पूरे देश के टैक्स सिस्टम में एकरूपता लाना है। इससे पहले तक प्रत्येक राज्य में अलग-अलग टैक्स स्लैब लागू था। अब पूरे देश में चार टैक्स स्लैब ही लागू हैं।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर और वित्त मंत्रालय की टीम ने बजट पेश करने से पहले फोटो ऑप कराया। अब यहां से निर्मला सीतारमण राष्ट्रपति भवन के लिए रवाना होंगी, जहां बजट की मंजूरी ली जाएगी।