बसपा

सभी पदाधिकारियों से कहा गया कि विधानसभा के उपचुनाव और 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर मजबूती से काम करें। संगठन लेवल की बैठक में सुप्रीमो मायावती ने इसको लेकर खास निर्देश जारी किए।

लोकसभा 2019 चुनावों में सपा के साथ गठबंधन में उम्मीद के मुताबिक सफलता ना मिलने पर बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमों मायावती आज(23 जून) को बैठक करके पार्टी में बड़ा उलटफेर कर सकती हैं।

रेप का आरोप झेल रहे राय वोटिंग के दौरान और नतीजे के दिन भी फरार थे। इसके बावजूद वो बीजेपी सांसद हरिनारायण राजभर से 1,22,018 हजार मतों से जीत गए।

यूपी के हाथरस जिले में बसपा की मंडलीय बैठक के दौरान मारपीट होने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि ये घटना रविवार को उस वक्त हुई, जब बसपा नेता मनोज सोनी के घर पर बैठक चल रही थी, वहां मौजूद नगीना सांसद गिरीश कुमार के सामने कुछ कार्यकर्ता अपनी बात रखना चाहते थे, लेकिन कुछ साथी कार्यकर्ताओं ने उन्हें रोक दिया।

मायावती ने अलीगढ़ की वारदात की निंदा करते हुए कहा, "अलीगढ़ में दो साल की मासूम बच्ची के साथ नृशंस व्यवहार एवं हत्या अति-शर्मनाक व दु:खद है। उप्र सरकार तुरंत कानून का राज स्थापित करने के लिए सख्त कार्रवाई कर दोषियों को सलाखों के पीछे भेजे।"

अखिलेश आज यहां ऐशबाग स्थित ईदगाह पर लोगों को मुबारकबाद देने पहुंचे थे। उन्होंने कहा, "जब आप कुछ नया करते हैं तो भले ही सफलता न मिले, लेकिन काफी कुछ सीखने को मिलता है। यह जरूरी नहीं कि हर प्रयोग सफल हो।"

इससे पहले 4 जून को मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस करते हुए कहा था कि, बसपा को सपा के वोट ट्रांसफर नहीं हुए। साथ ही उन्होंने यादव वोट के सपा से खिसकने का भी दावा किया।

गठबंधन पर मायावती ने कहा-सपा में बदलाव हुए तो फिर साथ आएंगे नहीं तो अकेले लडेंगे

आखिरकार सपा-बसपा के गठबंधन में आ गई दरार

मायावती ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि, चुनाव नतीजों से साफ है कि बेस वोट भी सपा के साथ खड़ा नहीं रह सका है। सपा की यादव बाहुल्य सीटों पर भी सपा उम्मीदवार चुनाव हार गए हैं।