बांग्लादेश

बांग्लादेश ने 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में शुरू होने जा रहे आगामी क्रिकेट विश्व कप के लिए मशरफे मुर्तजा के नेतृत्व में मंगलवार को 15 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी। टूर्नामेंट में जहां मुर्तजा टीम का नेतृत्व करेंगे तो वहीं शाकिब अल हसन टीम के उपकप्तान होंगे। 

एआरएसपीएच ने एक बयान में कहा, "हमले में 20 से ज्यादा लोग मारे गए और 50 से अधिक लोग जख्मी हो गए। बमबारी में अनेक लोगों की बाहें और टांगे उड़ गईं।"

बांग्लादेश की एक ऊंची इमारत में गुरुवार को भीषण आग लग गई। इसमें 5 लोगों की मौत हो गई और 65 लोग घायल हो गए। एफे न्यूज ने अग्निशमन अधिकारी मोहम्मद रसेल के हवाले से खबर दी है कि चार घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया। दमकल की 21 गाड़ियां आग बुझाने के काम में लगी थीं।

बांग्लादेश के लिए उसकी दूसरी पारी में कप्तान महमुदूल्लाह ने सर्वाधिक 67 रन बनाए। उनके अलावा मिथुन ने 47, शादमान इस्लाम ने 29, सरकार ने 28, मुस्ताफिजुररहमान ने 16 और मोमीनुल हक ने 10 रनों का योगदान दिया।

बांग्लादेश में रविवार को ढाका से दुबई के लिए उड़ान भरने वाले एक विमान को हाईजैक करने की कोशिश की गई। इसके बाद सुरक्षा एजेंसियां हरकत में आईं और चटगांव एयरपोर्ट पर प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई।

रविवार शाम बांग्लादेश में एक विमान को हाइजैक करने की कोशिश की गई। मीडिया रिपोर्टस के अनुसार ढाका से दुबई जा रहे एक विमान को चत्तोग्राम के शाह अमानत इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हाइजैक करने की कोशिश की गई। स्थानीय मीडिया के अनुसार अगवा किया गया विमान BG 147 बताया जा रहा।

बांग्लादेश के दमकल विभाग के प्रमुख अली अहमद ने बताया, 'अभी तक हमने 69 शव बरामद किए हैं। शवों की संख्या बढ़ सकती है। तलाश अभियान चल रहा है।'

पब्लिशर एंड बुकसेलर गिल्ड की ओर से आयोजित तीन दिवसीय कोलकाता साहित्य महोत्सव के उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित कर रहे पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का दर्द छलक उठा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को बांग्लादेश के विदेश मंत्री ए.के. अब्दुल मोमेन से मुलाकात की और कहा कि दोनों पड़ोसी देशों के आपसी रिश्ते तेजी से आगे की दिशा में बढ़ रहे हैं और नई दिल्ली इस गति को कायम रखने के लिए काम करेगी।

बांग्लादेश के 'ट्री मैन' कई सर्जरियों के बाद फिर से हॉस्पिटल पहुंच गए हैं।बांग्लादेश के अबुल बाजंदर को एक दुर्लभ बीमारी है जिसमें उनके हाथ-पैर की स्किन पर पेड़ जैसी संरचना बनने लगती है।28 साल के अबुल बाजंदर की बीमारी ने 3 साल पहले पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा था।हाथ-पैरों पर पेड़ की शाखाओं की तरह हुई ग्रोथ को हटाने के लिए वह कई सर्जरी से गुजर चुके हैं लेकिन उनकी बीमारी फिर से वापस आ गई है।