बाबरी विध्वंस

Babri Masjid Demolition: औवैसी(Owaisi) के इस बयान पर सोशल मीडिया पर उन्हें लोग करारा जवाब दे रहे हैं। विजय गुप्ता नाम के एक यूजर ने औवैसी को जवाब देते हुए लिखा कि, "आज भी काला दिन है और आज भी लोकतंत्र की हत्या हुई है। यही कहना चाहते हो ना। भाई एक काम करो

अयोध्या (Ayodhya) में 6 दिसंबर 1992 में हुए बाबरी विध्वंस (Babri Demolition Case) के मामले में फैसला आने वाला है। विशेष CBI अदालत में सुनवाई पूरी हो चुकी है और 27 साल के बाद 30 सितंबर को इस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत का फैसला आएगा।

अयोध्या (Ayodhya) स्थित बाबरी ढांचा विध्वंस (Babri demolition) मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने लखनऊ की सीबीआई ट्रायल कोर्ट (CBI Trial Court) को फैसला सुनाने के लिए एक महीने का समय दिया है।

उधर बाबरी मामले में अदालती सुनवाई लगातार जारी है। आज बीजेपी नेता मुरली मनोहर जोशी के बयान दर्ज हो रहे हैं। कल पूर्व प्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी के बयान दर्ज होंगे। इस बीच भूमि पूजन को लेकर भी नई मांग उठा दी गई है।

अयोध्या बाबरी विध्वंस मामले में अब एक-एक कर आरोपियों के बयान वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दर्ज किए जा रहे हैं।

अयोध्या में स्थित 16वीं सदी की बाबरी मस्जिद में छह दिसंबर, 1992 को बेकाबू व उत्तेजित हिंदूओं की भीड़ ने तोड़फोड़ की। जब यह हुआ, तब आडवाणी, जोशी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अन्य नेता मौके पर मौजूद थे।

नई दिल्ली। अयोध्या आंदोलन ने बीजेपी के कई नेताओं को देश की राजनीति में एक पहचान दी, लेकिन राम मंदिर...

नई दिल्ली। अयोध्या में विवादित बाबरी विध्वंस गिराए जाने की आज 26वीं बरसी है।6 दिसम्बर 1992 को बाबरी ढांचा गिराए जाने...