बालाकोट

2 years of Balakot Air Strike: गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा, 2019 में आज ही के दिन भारतीय वायुसेना ने पुलवामा आतंकी हमले का जवाब देकर नए भारत की आतंकवाद के विरुद्ध अपनी नीति को पुनः स्पष्ट किया था। मैं पुलवामा के वीर शहीदों का स्मरण व वायुसेना की वीरता को सलाम करता हूं। नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में देश व हमारे जवानों की सुरक्षा सर्वोपरि है।

BS Dhanoa: बीएस धनोवा ने आगे कहा कि बालाकोट(Balakot) एयरस्ट्राइक(Airstrike) के बाद पाकिस्तान पर कूटनीतिक और रणनीतिक तौर पर दबाव था। हमें 1999 में कारगिल की घटना याद है जब पाकिस्तान ने अंतिम समय पर धोखा दिया था, इसलिए हम सतर्क थे।

उन्होंने कोविड-19 महामारी के प्रति राष्ट्र की प्रतिक्रिया में योगदान और कई मानवीय सहायता एवं आपदा राहत मिशनों के दौरान निभाई गई भूमिका के लिए आईएएफ की सराहना की।

धनोआ ने यह भी खुलासा किया कि '27 फरवरी को भी पाकिस्तानी वायुसेना ने भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश की थी। जिसके बाद ही पाकिस्तान की सेना हमारे निशाने पर थी।

26 फरवरी को बालाकोट में एयर स्‍ट्राइक के बाद पाकिस्‍तानी विमानों के हमलों को विफल करने वाले जांबाज पायलटों को वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया द्वारा सम्मानित किया गया।

अब भारतीय पैदल सेना इजरायली स्पाइक ऐंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल्स (ATGMs) को ताकतवर हथियार होगा के रूप में शामिल कर रही है।

उन्होंने कहा कि, इससे स्पष्ट होता है कि भारत द्वारा किए गए एयरस्ट्राइक में बालाकोट को नुकसान पहुंचा था। हालांकि अब ऐसा लगता है कि वहां लोग दोबारा इकट्ठा हो गए हैं।

खुफिया सूत्रों ने पाकिस्तान में पल रहे आतंकी ठिकानों के बारे में कई अहम जानकारियां शेयर की है। एजेंसियों ने उन ठिकानों के नाम भी जाहिर कर दिए हैं जहां से पाकिस्तानपरस्त आतंकी भारत में बड़े हमले की तैयारी कर रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, स्पाइस बम के बंकर बस्टर वर्जन के बाकी बचे खेप वायुसेना को सितंबर महीने के दूसरे सप्ताह में मिल जाएंगे। इसके लिए भारत और इजरायल के बीच 300 करोड़ रुपये की डील पर साइन हुए थे।

शायद इसी वजह से आतंकी ठिकानों को अब ये संगठन पाकिस्तान से हटाकर अफगानिस्तान में शिफ्ट कर रहे हैं।