बिल गेट्स

Bill Gates praises PM Narendra Modi: नए साल पर कोरोना महामारी को लेकर देशवासियों को बड़ी खुशखबरी मिली है। दवा नियामक ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने भारत में बनी स्वदेशी कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की मंजूरी दे दी। DCGI ने भारत बायोटेक (Bharat Biotech) की कोवैक्सीन (Covaxin) और सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute of India) की कोविशील्ड (COVISHIELD) को आपात प्रयोग की मंजूरी दी।

Coronavirus: एक तरफ जहां पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोनावायरस (Coronavirus) के प्रकोप से जूझ रही है। संकट की इस घड़ी में अगर पूरी दुनिया को इंतजार है तो वह कोरोना की वैक्सीन का। लेकिन इन सबके बीच माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स (Bill Gates) ने कोरोनावायरस को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की है।

Elon musk: गौरतलब है कि बिल गेट्स(Bill Gates) ने काफी दान किया है, और यही वजह से उनकी नेटवर्थ में और कमी आयी है। उन्होंने साल 2006 से अब तक गेट्स फाउंडेशन(Gates Foundation) को 27 अरब डॉलर का दान किया है।

सॉफ्टवेयर कंपनी (Software Company) माइक्रोसॉफ्ट के फाउंडर ( Microsoft Founder) बिल गेट्स (Bill Gates) ने कहा है कि कोरोना वैक्सीन को लेकर पूरी दुनिया की निगाहें भारत पर टिकी हुई हैं।

अमेरिकी न्याय विभाग ने पिछले महीने नामचीन हस्तियों के ट्विटर अकाउंट हैक करने के मामले में तीन युवाओं (एक किशोर सहित) पर शिकंजा कसा है।

अब बिल गेट्स ने कहा कि भारतीय दवा उद्योग भारत में कोरोना मरीजों को दवा दे ही सकता है। साथ ही वो पूरी दुनिया के मरीजों के लिए भी कोरोना वायरस की वैक्सीन की सप्लाई कर सकता है।

बिल गेट्स ने कहा कि हमें 9 महीने में कोरोनावायरस (कोविड-19) की वैक्सीन मिल सकती है। गौरतलब है कि बिल गेट्स का बिल और मिलिंडा फाउंडेशन कोरोना के खिलाफ लड़ाई में महत्तवपूर्ण योगदान कर रहा है।

बिल गेट्स ने कहा मुझे खुशी है कि आपकी सरकार अपनी COVID-19 प्रतिक्रिया में अपनी असाधारण डिजिटल क्षमताओं का पूरी तरह से सार्थक उपयोग कर रही है

डोनाल्ड ट्रंप के इस फैसले पर चिंता जताते हुए चीन ने अमेरिका से आग्रह किया कि वह कोरोना संकट के समय में अपने दायित्व को पूरा करें।

बिल गेट्स ने यह भी कहा कि महामारी से पता चलता है कि चाहे व्यक्ति हो या देश एक दूसरे पर निर्भर करते हैं। वैश्विक महामारी के प्रसार को रोकने के लिए हमें सबसे प्रभावी कर्मियों, सबसे प्रभावी टीकों और सबसे प्रभावी दवाओं को खोजने की आवश्यकता है।