बीएसपी

उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने आगे ये भी कहा कि इस राष्ट्र के विकास का विरोध करने वाली और उत्थान को पचा न पाने वाली ताकतें साथ आ रही हैं। उन्होंने कहा कि जब भी देश में कुछ अच्छा होता है, तो ये लोग अलग मुद्रा में आ जाते हैं। उपराष्ट्रपति ने कहा कि खतरा बहुत बड़ा है।

मध्यप्रदेश के विधानसभा चुनाव में कुल 2534 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। इस तरह दागी प्रत्याशी करीब 19 फीसदी हैं। एडीआर की रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा 175 आपराधिक मामले बीजेपी के प्रत्याशी सुरेंद्र पटवा पर दर्ज हैं। भारत आदिवासी पार्टी के कमलेश्वर डोडियार पर 15 आपराधिक केस हैं।

बीएसपी ने राजस्थान में विधानसभा चुनाव लड़ने के संकेत तभी दे दिए थे, जब मायावती के भतीजे और पार्टी के नेशनल कोऑर्डिनेटर आकाश आनंद ने 15 दिन में राज्य की 144 सीटों पर संकल्प यात्रा निकाली थी। अब मायावती की पार्टी ने 10 सीटों पर उम्मीदवारों के नाम भी तय कर लिए हैं।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती के बाद अब अकाली दल (एसएडी) ने भी विपक्षी दलों के गठबंधन में शामिल होने से साफ मना कर दिया है। पिछले कुछ दिनों से कांग्रेस के कई नेता दावा कर रहे थे कि अकाली दल भी विपक्ष के गठबंधन में शामिल होगा। इन सभी कांग्रेस नेताओं की उम्मीदों पर पानी फिर गया है।

अब तक ये चर्चा जोरों पर थी कि बीएसपी सुप्रीमो मायावती विपक्षी दलों के गठबंधन में शामिल हो सकती हैं, लेकिन अब मायावती ने इन चर्चाओं को फर्जी बताते हुए चुनावों में एकला चलो का एलान कर दिया है। मायावती ने एनडीए के साथ ही विपक्षी दलों के गठबंधन पर भी जमकर निशाना साधा है और आरोप लगाए हैं।

दिल्ली में ट्रांसफर और पोस्टिंग संबंधी बिल का असली गणित राज्यसभा का है। इस बिल के जरिए संविधान में संशोधन होगा। इस वजह से राज्यसभा में भी मोदी सरकार को इसे पास कराना होगा। राज्यसभा में अभी सांसदों की संख्या 238 है। 7 सीटें खाली हैं। इससे बहुमत का आंकड़ा 120 होता है।

Mayawati On Uniform Civil Code: रविवार को मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा, ''यहां विशाल आबादी वाले अपने भारत देश में हिंदू, मुस्लिम, सिख, पारसी और बौद्ध आदि विभिन्न धर्मों को मनाने वाले लोग रहते है। जिनके हर मामले में रहन-सहन व जीवनशैली आदि के अपने अलग-अलग से तौर तरीके नियम व रस्म रिवाजे है। जिससे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। लेकिन वहीं दूसरी तरफ ये बात भी काफी हद तक सोचने वाली है यदि यहां सभी धर्मों के मनाने वाले लोगों पर हर मामले में एक सम्मान कानून लागू होता है।

विपक्षी दलों की एकता अगर हुई और बीजेपी के एक प्रत्याशी के मुकाबले अगर विपक्ष का एक ही साझा प्रत्याशी उतारने का फैसला हुआ, तो इससे क्षेत्रीय दल तो फायदे में रहेंगे, लेकिन कांग्रेस दिक्कत में आ सकती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर 300 से ज्यादा लोकसभा सीटों पर कांग्रेस की दिक्कत का गणित क्या है।

विपक्षी दल जब शुक्रवार को पटना में 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए गठजोड़ करने की आपसी मंत्रणा कर रहे थे, उस वक्त यूपी में हुए सहकारी बैंकों के चुनाव में उन्हें करारी शिकस्त का मुंह देखना पड़ा। उत्तर प्रदेश जिला सहकारी बैंक के सभापति पद की 39 में से 38 सीटें बीजेपी के खाते में आ गई हैं।

बीएसपी की सुप्रीमो मायावती के भाई और भाभी के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। अंग्रेजी अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के मुताबिक मायावती जब यूपी में सीएम थीं, तो उनके भाई और भाभी को नोएडा के लॉजिक्स इन्फ्राटेक प्राइवेट लिमिटेड के बनाए अपार्टमेंट में 261 फ्लैट बहुत ही कम कीमत पर दिए गए।


Warning: Undefined variable $page_text in /data1/www/hindinewsroompostcom/wp-content/themes/newsroomcmsupdated/archive.php on line 30

Warning: Undefined variable $args in /data1/www/hindinewsroompostcom/wp-content/themes/newsroomcmsupdated/archive.php on line 31