भाजपा सरकार

Uttar Pradesh: प्रदेश अध्यक्ष स्वतन्त्र देव सिंह के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बुलंदशहर की सदर विधानसभा से उपचुनाव की रैली का आगाज किया। वीरेंद्र सिंह सिरोही को श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ योगी ने अपने भाषण की शुरुआत की तो उत्साहित भीड़ काफी देर तक जय श्री राम और योगी....योगी़....के नारे लगाती रही।

Bulandshahr bypolls : बुलंदशहर (Bulandshahr) सदर विधानसभा सीट पर हो रहे उपचुनाव में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के अध्यक्ष और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह (Chaudhary Ajit Singh) ने  भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला।

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरूवार को भाजपा सरकार पर तंज कसा और कहा कि सरकार लोगों को डराकर नहीं बल्कि विश्वास में लेकर सभी के साथ आगे बढ़ना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोनावायरस से निबटने के लिए स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सक व अन्य कार्मिक, स्थानीय निकायों के पर्यावरण मित्र, वाहनों के चालक, पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी समेत सरकारी-गैर सरकारी क्षेत्र के लोग पूरी संजीदगी से जुटे हैं। इन सभी का जीवन बीमा होगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहने का रिकॉर्ड बनाने जा रहे हैं। योगी अपने कार्यकाल का तीन वर्ष 18 मार्च को पूरा करेंगे।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में अल्पसंख्यक कल्याण, वक्फ और हज मंत्री मोहसिन रजा का कहना है कि नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ हुई हिंसा के लिए ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड और बाबरी एक्शन कमेटी के लोग जिम्मेदार हैं।

मोदी सरकार ने मेंटिनेंस ऐंड वेलफेयर ऑफ पैरंट्स एंड सीनियर सिटीजन एक्ट 2007 के तहत बुजुर्गों का ख्याल रखने वालों की परिभाषा को बड़ा कर दिया है। अब नए प्रस्ताव के तहत व्यक्ति की ज़िम्मेदारी खुद के बच्चों तक सीमित नही रहेगी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार ने अपने कार्यकाल के छह माह पूरे कर लिए हैं, इस दौरान भारत 'अभूतपूर्व सुधार की गति' का गवाह बना है।

बुधवार को लोकसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी विदेश यात्राओं में हॉल्ट के दौरान फाइव स्टार होटल में रात गुजारने के बजाय एयरपोर्ट टर्मिनल्स पर ही आराम या नहाने आदि का विकल्प चुनते हैं।

अब मोदी सरकार एक और बड़ा कदम उठाने वाली है और दो केंद्र शासित राज्यों का विलय होने वाला है। दरअसल, दमन एंड दीव और दादर एंड नागर हवेली को एक साथ मिलाकर एक केंद्र शासित राज्य बनाने को योजना चल रही है।