भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड

तिवारी, वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल की कुछ टीमों को नेट पर गेंदबाजी कर चुके थे। वह राज्य की टीम में जगह बनाने के प्रयास में थे। हालांकि भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के नियमों के अनुसार, जिस खिलाड़ी ने राज्य की टीम में प्रतिनिधित्व किया हो, वह आईपीएल नीलामी में शामिल हो सकता है।

उन्होंने कहा, " यह कुछ ऐसा ही जिस पर हमारा सबसे ज्यादा ध्यान है और हम इसे महत्व दे रहे हैं। यह यूएई में होने वाला सबसे बड़ा टूर्नामेंट होगा और हमारी टीम हर तरह से सहयोग करके इसे यादगार बनाएगी।"

भारतीय क्रिकेट कप्तान विराट कोहली, महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली सहित भारतीय क्रिकेट समुदाय ने अपने समय में घरेलू क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी रहे राजिंदर गोयल को श्रद्धांजलि दी है।

बीसीसीआई ने इससे पहले, 17 मई को एक बयान जारी कहा था कि बाहर प्रशिक्षण करने को लेकर पूरी तरह से सुरक्षित होने के बाद ही बोर्ड अपने अनुबंधित खिलाड़ियों के लिए प्रशिक्षण के लिए कैम्प का आयोजन करेगी।

अय्यर ने कहा, "अगर आप भारतीय टीम में तकरीबन एक साल से एक स्थान पर खेल रहे हो तो मतलब आपने अपना स्थान पक्का कर लिया है। इसके बारे में कुछ और सवाल नहीं किए जाने चाहिए।"

सौरव गांगुली को इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के साथ अनौपचारिक बैठक में भाग लेना है, जहां वह ईसीबी के अधिकारियों से बात करेंगे। इस बैठक में क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) के अधिकारी भी शामिल हो सकते हैं।

भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार पेसर जसप्रीत बुमराह को पॉली उमरीगर अवॉर्ड से नवाजा गया है। बुमराह को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) वार्षिक अवॉर्ड समारोह के दौरान रविवार को वर्ष 2018-19 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन के लिए पॉली उमरीगर अवॉर्ड प्रदान किया गया।

भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने शुक्रवार को कहा है कि वह लॉडर्स पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष के तौर पर आकर अच्छा महसूस कर रहे हैं। इस मैदान पर आते ही गांगुली ने अपनी पुरानी यादें ताजा कीं।

सूत्र ने कहा, बुमराह विशाखापट्टनम में नेट्स में टीम के साथ जुड़ेंगे और वहां उनकी चोट की परख की जाएगी क्योंकि वह कोहली और रोहित जैसे विश्व स्तरीय बल्लेबाजों के सामने गेंदबाजी करेंगे।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली का कहना है कि पूर्णकालिक क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) की कोई जरूरत नहीं क्योंकि इसकी भूमिका सिर्फ एक या दो मीटिंग्स तक सीमित है।