भारतीय रेलवे

पाकिस्तान द्वारा जोधपुर व करांची को जोड़ने वाली थार एक्सप्रेस को बंद करने के कुछ दिनों बाद भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को कहा कि उसने जोधपुर-मुनाबाव थार लिंक एक्सप्रेस को रद्द कर दिया है। थार लिंक एक्सप्रेस भारत की तरफ राजस्थान के भगत की कोठी रेलवे स्टेशन से पाकिस्तान सीमा से लगे मुनाबाव के बीच चलती है।

रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स ने आज सभी ग्रुप की फाइनल मेरिट लिस्ट जारी कर दी है इसके साथ ही ग्रुप डी की फाइनल मेरिट लिस्ट भी जारी कर दी गई है यह मेरिट लिस्ट NR, NER, NWR, and NCR रीजन की जारी की गई है।

यदि आप नदी के नीचे रेल यात्रा करना चाहते हैं तो जल्द ही आपकी ये इच्छा पूरा हो सकती है। भारत में नदी के नीचे चलने वाली पहली मेट्रो रेल लाइन का काम लगभग पूरा हो रहा है।

बता दें कि मुंबई के छत्रपति शिवाजी टर्मिनस से लखनऊ के लिए चलने वाली पुष्पक एक्सप्रेस में बायोमीट्रिक सिस्टम का ट्रायल सफल रहा है, जिसके बाद धीरे-धीरे अब अन्य ट्रेनों में भी इस उपाय को लागू कर भीड़ प्रबंधन की तैयारी है।

रेलमंत्री पीयूष गोयल ने शनिवार को कहा कि भारतीय रेल के कुछ खंडों को निवेश के वास्ते निजी क्षेत्र के लिए खोला जा सकता है। उन्होंने कहा कि निजी क्षेत्र लाइसेंस फीस के बदले में इन खंडों पर अपने रेलमार्ग का संचालन कर सकता है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के इंदौर से होकर जाने वाली 39 ट्रेनों के यात्रियों के लिए शुरू की जाने वाली 'सिर की चंपी (मालिश) और पैरों की मालिश' अमल में आने से पहले ही रद्द कर दी गई है और ठेका निरस्त कर दिया गया है।

जिन ट्रेनों में यह सेवा प्रदान की गई है, उनमें मालवा एक्सप्रेस, इंदौर-लिंगमपल्लीहमसफर एक्सप्रेस, अवंतिका एक्सप्रेस, इंदौर-वेरावल महामना एक्सप्रेस, क्षिप्रा एक्सप्रेस, नर्मदा एक्सप्रेस, अहिल्या नगरी एक्सप्रेस, पंचवली एक्सप्रेस, इंदौर-पुणे एक्सप्रेस शामिल हैं।

चक्रवाती तूफान 'फानी' की वजह से एहतियात के तौर पर, भारतीय रेलवे ने चार मई तक कोलकाता-चेन्नई मार्ग पर ओडिशा तटरेखा के साथ लगे भद्रक-विजयनगरम के बीच 223 ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

रेलवे सूत्रों के अनुसार, रेल लाइन पर पलटे मालगाड़ी के डिब्बों से भोपाल से निजामुददीन जा रही भोपाल एक्सप्रेस का कुछ हिस्सा टकरा गया, जिसके चलते गाड़ी को ग्वालियर स्टेशन वापस लाया गया और सुबह इस गाड़ी को रवाना किया गया।

अक्सर देखा गया है कि ट्रेन में कई बर्थ खाली होने के बावजूद सफर के दौरान वेटिंग टिकट वाले पैसेंजर को बैठने के लिए संघर्ष करना पड़ता है। लेकिन अब भारतीय रेलवे की ओर से एक ऐसी सुविधा शुरू की गई है जिसके जरिए आप ट्रेन में खाली बर्थ का पता लगा सकेंगे।