भारतीय वायुसेना

Indian Airforce: भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) को हाल ही में मिले राफेल लड़ाकू विमान (Rafale Fighter Jet) की जिम्मेदारी संभालने वाली स्क्वाड्रन में जल्द ही एक महिला फाइटर पायलट की एंट्री हो सकती है।

चीन (China) से तनातनी के बीच आज भारतीय वायुसेना (Indian Air force) के लिए बेहद ही खास दिन है। दुनिया के सबसे आधुनिक लड़ाकू विमानों में से एक राफेल (Rafale Fighter Jets) को आधिकारिक तौर पर वायुसेना में शामिल हो गया है।

अंबाला एयरबेस पर आयोजित समारोह में आज यानी 10 सितंबर को लड़ाकू विमान राफेल भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया है। इस दौरान सर्वधर्म पूजा भी हुई और पानी की बौछारों से राफेल को सलामी दी गई। इस भव्य कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, फ्रांस की रक्षा मंत्री फ्लोरेंस पार्ली, चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ जनरल बिपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया और रक्षा सचिव अजय कुमार शामिल हुए।

नई दिल्ली। दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) ने जाह्न्वी कपूर (Jhanvi Kapoor) अभिनीत फिल्म ‘गुंजन सक्सेना : द कारगिल गर्ल’...

लड़ाकू विमान राफेल (Rafale) को अंबाला एयरबेस (Ambala Airbase) में तैनात किया गया है। एयर मार्शल मानवेन्द्र सिंह (Air Marshal Manvendra Singh) ने अंबाला में उड़ने वाले कबूतरों को राफेल के लिए खतरा बताया है। जिसकी सुरक्षा के मद्देनजर एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह ने हरियाणा के मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखी है।

लद्दाख (Laddakh) में भारतीय सेना (Indian Army) अब और भी सतर्क हो गई है। भारतीय सेना ने चीन (China) को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए सैन्य ताकत और बढ़ा दी है।

अधिकारियों ने कहा कि एयर चीफ मार्शल भदौरिया (IAF Chief RKS Bhadauria) ने मिग- 21 बाइसन (Mig-21 Bison) विमान में उड़ान भरने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अड्डे की परिचालन तैयारियों की समीक्षा की।

पत्र में वायुसेना की ओर से लिखा गया कि धर्मा प्रोडक्शंस ने प्रामाणिकता के साथ भारतीय वायुसेना को पेश करने के लिए सहमति व्यक्त की थी और यह भी सुनिश्चित किया था कि वे सारे प्रयास किए जाएंगे जिससे फिल्म अगली पीढ़ी के अधिकारियों को प्रेरित होने में मदद करें।

शनिवार को भारत और चीन के बीच मेजर जनरल स्तर की बातचीत हुई। इस बातचीत के दौरान भारत ने चीन को डेपसांग सेक्टर से तुरंत अपने सैनिक पीछे हटाने को कहा।

धनोआ ने कहा, "मैंने सौदे का बचाव इसलिए किया था कि मैं नहीं चाहता था कि यह बोफोर्स के रास्ते पर जाए। हम रक्षा खरीद प्रक्रिया के राजनीतिकरण के खिलाफ थे। यह वायुसेना की क्षमता सवाल था।"