भारत-पाक सीमा

Ceasefire Violation: पाकिस्तान(Pakistan) की तरफ से भारत की सीमा(Indian Border) में आतंकियों को घुसपैठ कराने के लिए इस तरह सीजफायर उल्लंघन किया जाता है ताकि भारतीय सेना इसका जवाब देने में उलझी रहे और आतंकियों को भारत की सीमा में भेजने में पाकिस्तान सफल हो पाए।

Indian Army: आज पाकिस्तान(Pakistan) ने कई स्थानों पर संघर्षविराम का उल्लंघन किया था, जिसको लेकर भारतीय सेना पाक के उकसावे पर पलटवार किया है। बता दें कि पाकिस्तान की तरफ से यह संघर्षविराम उल्लंघन केवल एक जगह नहीं किया गया कई जगहों से इस तरह की खबरें सामने आ रही हैं।

Pakistan: पाकिस्तान (Pakistan) की तरफ से यह संघर्षविराम उल्लंघन (ceasefire violation) केवल एक जगह नहीं किया गया कई जगहों से इस तरह की खबरें सामने आ रही हैं। वहीं भारतीय सेना (Indian Army) के द्वारा इस मामले को लेकर जारी किए गए बयान में कहा गया है कि एलओसी के पास केरन से उरी सेक्टर तक कई जगहों पर पाकिस्तान की तरफ से फायरिंग की गई।

डीजी(DG) को रजौरी(Rajauri) के डीआईजी आईडी सिंह और एलओसी(LOC) पर तैनात फील्ड कमांडरों ने एलओसी पर ऑपरेशन की तैयारियों और ताजा हालात की जानकारी दी। 

भारत-चीन सीमा विवाद के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा तय हुआ था लेकिन उसे एक दिन पहले ही कैंसिल कर दिय गया था।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से जम्मू में सीमा सड़क संगठन द्वारा बनाए गए 6 नए पुलों का उद्घाटन किया। समारोह में जम्मू-पुंछ संसदीय क्षेत्र के सांसद जुगल किशोर शर्मा, डिवीजनल कमिश्नर संजीव वर्मा, कठुआ के डीसी ओपी भगत, बीएसएफ के आइजी एनएस जम्वाल, बीआरओ के वरिष्ठ अधिकारी सहित भाजपा के स्थानीय कार्यकर्ता एवं कुछ प्रमुख नागरिक मौजूद रहे। आप भी देखें उद्घान की तस्वीरे....

इस अवसर पर राजनाथ सिंह कहा कि मुझे यह कहते हुए गर्व महसूस हो रहा है कि इन पुलों का निर्माण दुश्मनों द्वारा निरंतर सीमा पर गोलीबारी के बावजूद समय पर पूरा कर लिया गया है।

अमृतसर की केन्द्रीय जेल से बरामद की गई एक प्राइवेट मोबाइल फोन कंपनी का वाईफाई डोंगल एवं 3 मोबाइल फोन ने सुरक्षा एजेंसियों की नींद उड़ा दी है।

बीएसएफ के सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान में नारोवाल के रहने वाले मुहम्मद अफजल को बुधवार देर रात उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह भारतीय सीमा में प्रवेश कर रहा था। 

पुलवामा में हुए आतंकी हमले को अभी 48 घंटे भी नहीं हुए हैं कि जम्मू कश्मीर में एक और आर्मी ऑफिसर को अपनी शहादत देनी पड़ी है। राज्य के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (LoC) के समीप मेजर जांच के लिए जा रहे थे और आतंकियों द्वारा लगाए गए आईईडी को डिफ्यूज करते समय वो शहीद हो गए।