भारत सरकार

India China Tension: कोरोना काल (Corona era) में भी नापाक हरकतों से बाज नहीं आने वाले चीन (China) और पाकिस्तान (Pakistan) को अब सबक सिखाने के लिए भारत सरकार (Indian Govt) ने बड़ा कदम उठाया है।

Fit India Movement : फिट इंडिया मूवमेंट (Fit India Movement) की पहली वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) गुरुवार को वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए  देश की कई हस्तियों से बात की। इस खास मौके पर उन्होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) से भी बातचीत की।

सीमा विवाद के बीच भारत सरकार (Indian Govt) ने चीन को बड़ा झटका दिया है। बता दें कि चीन (China) की नापाक चाल को एक बार फिर भारत ने विफल कर दिया है। लगातार तीसरी बार चालबाज चीन ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश की है, जिसका भारतीय सेना (Indian Army) ने मुंहतोड़ जवाब दिया है।

डीआरडीओ(DRDO) भारत सरकार(Indian Government) के रक्षा मंत्रालय का आर एंड डी विंग है, जो अत्याधुनिक रक्षा प्रौद्योगिकी और प्रणालियों में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए भारत को सशक्त बनाने की दिशा में काम करता है।

केंद्र की मोदी सरकार (Modi Government) ने बुधवार को एक बार फिर चीन (China) को बड़ा झटका दिया। चीनी ऐप्स पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक करते हुए भारत सरकार ने 118 ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया।

एक कहावत है देर आए दुरुस्त आए। साल 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की सरकार ने आते ही नई शिक्षा नीति (New education policy) लाने की घोषणा कर शिक्षा जगत के विद्वानों, शिक्षकों, छात्रों और अभिभावकों को प्रसन्नता व आनंद से अभिभूत कर दिया।

भारत-चीन सीमा विवाद (India-China Border Dispute) के साथ पाकिस्तान (Pakistan) की कैद में भारतीय नौ सेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव (Kulbhushan Jadhav) को लेकर भी स्थिति स्पष्ट कर दी।

भारत सरकार लद्दाख (Ladakh) में अब दुश्मनों को सबक सिखाने के लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है। दरअसल भारतीय सेना (Indian Army) अब लद्दाख में बिना दुश्मनों की नजर में आए अपनी गतिविधियों को अंजाम दे सकेगी।

भारत में वीडियो शेयरिंग चीनी ऐप टिकटॉक को सरकार ने बैन कर दिया था। जिसके बाद भारतीय ऐप्प 'चिंगारी' काफी हिट हो गया था। अब इस ऐप को सरकार ने ऐप इनोवेशन चैलेंज प्रतियोगिता की सोशल मीडिया कैटेगिरी में पहला स्थान दिया है।

अफगानिस्तान के हिंदू और सिख समुदाय के नेता निदान सिंह सचदेवा का 22 जून 2020 को पक्तिया प्रांत के चामकनी जिले से अपहरण कर लिया गया था, उन्हें 18 जुलाई को अफगान सुरक्षा बलों ने छुड़ाया।