भारत

प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘‘बेहतर भविष्य के लिये प्रतिबद्ध हैं। ‘जय' त्रिपक्षीय बैठक ओसाका में हुई. प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने नेताओं का स्वागत किया। ट्रंप ने प्रधानमंत्री मोदी और आबे को चुनाव में जीत के लिए बधाई दी। मोदी ने ‘जय' में भारत की महत्ता को रेखांकित किया।''

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद विश्व के लिए बड़ा खतरा है। हमें आतंकवाद के खिलाफ संघर्ष को प्राथमिकता देनी है। इसके सभी रास्ते बंद होने चाहिए।

इस हार के बाद वेस्टइंडीज 10 टीमों की अंक तालिका में आठवें स्थान पर है। उसके सात मैचों में पांच हार और एक जीत के साथ तीन अंक हैं जबकि उसका एक मैच बारिश के कारण धुल गया था। विंडीज के अभी दो मैच बाकी हैं। उसे एक जुलाई को श्रीलंका और फिर चार जुलाई को अफगानिस्तान से खेलना है।

जी-20 सम्मेलन से पहले ट्रंप ने ट्वीट किया, "मैं प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी से उन मुद्दों पर मिलने के लिए उत्साहित हूं जिनके अनुसार, अमेरिका पर कई सालों से बहुत ज्यादा शुल्क लगाया गया है, और हाल ही में शुल्कों को और ज्यादा बढ़ा दिया गया है।" उन्होंने कहा, "यह अस्वीकार्य है। शुल्क को कम करना होगा।"

इस टूर्नामेंट में भारत ने अभी तक एक भी मुकाबला नहीं हारा है और इसी क्रम को वह विंडीज के खिलाफ भी बरकरार रखना चाहेगी। हले तीन मैच आसानी से जीतने बाद भारत को हालांकि अपने पिछले मैच में अफगानिस्तान के खिलाफ मशक्कत करनी पड़ी थी लेकिन मोहम्मद शमी की आखिरी ओवर में लगाई गई हैट्रिक से भारत ने क्रिकेट के महाकुंभ में अपनी चौथी जीत दर्ज कर ली थी।

प्रधानमंत्री के कार्यालय द्वारा जारी बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री ने अमेरिका के साथ अपने संबंधों की प्राथमिकता को दोहराया और 'सरकार के नए कार्यकाल में विश्वास और साझा हित की मजबूत नींव पर सामरिक भागीदारी पर उनकी सोच को रेखांकित किया।" 

अमेरिकी विदेश मंत्री पोम्पियो ने की पीएम मोदी से मुलाकात

अमेरिका-भारत की कूटनीति साझेदारी पर चर्चा करने के लिए पोंपियो बुधवार (आज) देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर से मिलेंगे।

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो मंगलवार रात तीन दिवसीय दौरे पर दिल्ली पहुंचेंगे। बुधवार को पोम्पियो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ बैठक करेंगे। माना जा रहा है कि अमेरिका इस दौरान भारत के साथ रणनीतिक साझेदारी मजबूत करना चाहेगा।

जी20 शिखर सम्मेलन में अमेरिका की घेराबंदी करने के लिए चीन भारत और रूस की मदद ले सकता है। जापान के ओसाका में इस हफ्ते होने वाले जी20 शिखर सम्मेलन में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ अमेरिका की एकतरफा व्यापार नीतियों पर चर्चा करेंगे।