मजदूर

इससे पहले भी राहुल गांधी वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए अपनी पार्टी के लोगों, पत्रकारों, और जानी मानी हस्तियों से कोरोना संकट, लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था पर बातचीत कर चुके हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के ग्रामीण इलाकों में हर मजदूर को काम मिलेगा। इसके लिए राज्य सरकार ने श्रम सिद्धि अभियान...

कोरोना संकट काल में देश के किसानों, मजदूरों,शहरी गरीबों और रेहड़ी पटरी पर दुकान करने वालों की आर्थिक मदद के लिए सरकार ने गुरूवार को कुछ बड़े एलान किए।

केंद्र के मुताबिक अब प्रतिदिन 1,200 की जगह लगभग 1,700 यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाया जाएगा। मंत्रालय ने अपने एक बयान में कहा कि ‘एमएचए और रेल मंत्रालय ने श्रमिक विशेष रेलगाड़ियों से प्रवासी श्रमिकों को ले जाये जाने पर आज सुबह एक वीडियो कॉन्फ्रेंस आयोजित की।’

दूसरे राज्यों से लौटे प्रवासियों के लिए योगी सरकार ने रोजगार देने की योजना पर काम शुरू कर दिया है।

योगी सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है, जिसके चलते ग्रामीण क्षेत्रों से वापिस लौटे मजदूरों को सरकार नौकरी देगी। 

कोरोनावायरस के अंधकार के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर देशवासियों ने रविवार रात 9 बजे 9 मिनट तक लाइटें बंद कर दीया, मोमबत्ती, टॉर्च और फोन की फ्लैश लाइट जलाई।

लॉक डाउन के बीच उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम(यूपीएसआरटीसी) के प्रबंध निदेशक(एमडी) राजशेखर ने पूरे प्रदेश के आरएम से लेकर एआरएम के फोन घनघनाकर उन्हें घरों से बुलाया। एक-एक ड्राइवर घरों से बुलाया गया। हर जिले से बसें गाजियाबाद के लिए रवाना कर दीं। ताकि दिल्ली से आए हजारों गरीब लोग घरों के लिए रवाना हो सके

दिल्ली आए किसानों के 11 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने कृषि भवन जाकर कृषि मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात कर अपनी बातें रखीं। इसके बाद किसान आंदोलन खत्म करने का ऐलान किया गया।