मनोज तिवारी

गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों में आम आदमी पार्टी को 62 और भारतीय जनता पार्टी को 8 सीटें मिली हैं। वहीं पिछले विधानसभा चुनाव में आप को 67 सीट और भाजपा को 3 सीटें मिली थीं।

दिल्ली के साथ ही भाजपा के नेतृत्व वाला राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) पिछले दो साल में छह राज्यों में सत्ता गंवा चुका है। पिछली बार दिल्ली में महज 3 सीटें जीतने वाली भाजपा को इस बार बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी।

इन सबके बीच भाजपा नेता रमेश खन्ना  अभी भी कर रहे हैं कि हम ही जीत रहे हैं हमारी ही सरकार बनेगी। हमारा अनुभव है कि लोगों का मन सरकार बदलने का है इस बार बीजेपी सरकार आने वाली है।

दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों की मंगलवार को जारी मतगणना के शुरुआती रुझानों में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) को भारी बढ़त देखते हुए यहां पार्टी कार्यालय पर जश्न की तैयारी शुरू हो गई है।

दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए मतगणना शुरू हो गई है। मुख्य मुकाबला सत्तारुढ़ आम आदमी पार्टी, बीजेपी और कांग्रेस के बीच है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल लगातार तीसरी बार नई दिल्ली से किस्मत आजमा रहे हैं।

दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजे अब साफ होते दिख रहे हैं। शुरुआती रुझानों में आम आदमी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलता दिख रहा है। रुझानों के बाद भाजपा और कांग्रेस ने अपनी हार भी स्वीकार कर ली है। वहीं आम आदमी पार्टी के दफ्तर में जश्न का माहौल है।

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने दावा किया है कि वे दिल्ली में 48 सीटें जीत रहे हैं। उन्होंने कहा कि एग्जिट पोल कई बार फेल होते हैं। ऐसा पंजाब में भी हो चुका है।

एग्जिट पोल पर दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और सांसद परवेश वर्मा ने अपनी पहली प्रतिक्रिया में कहा है कि फाइनल नतीजे इससे बिल्कुल अलग होंगे।

बीजेपी अपनी तैयारियों में डटी हुई है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बीजेपी के सभी सांसदों की रात में मीटिंग बुला ली है। यह मीटिंग दिल्ली बीजेपी कार्यालय पर होगी।

भाजपा के पूर्व संगठन महामंत्री और आरएसएस के सह संपर्क प्रमुख रामलाल ने वोट डालने के बाद कहा है कि आज मतदान के दिन शाहीन बाग ही नहीं कई मुद्दों पर वोट पड़ रहा है।